4.75 लाख वोटों से मोदी ने जीता बनारस, कांग्रेस के अजय राय तीसरे नंबर पर

वाराणसी में मोदी ने रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज की. शालिनी यादव दूसरे और अजय राय तीसरे नंबर पर रहे.

भारत में लोकसभा चुनाव के नतीजों को लेकर सबसे ज्यादा सरगर्मी वाली सीट इस समय वाराणसी है. वाराणसी यानी बनारस. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी सीट से लड़े. 4.75 लाख वोटों के अंतर से जीत हासिल की. कुल 6 लाख 69 हजार 602 वोट मोदी को मिले. शालिनी यादव नंबर दो पर रहीं, उन्हें 1 लाख 93 हजार 848 वोट मिले. कांग्रेस के अजय राय को 1 लाख 51 हजार 800 वोट मिले. बनारस की जनता ने इस बार मोदी को 63.59 फीसदी वोट दिए.

2014 चुनाव में बनारस के अलावा वड़ोदरा से भी खड़े थे. 2019 में बनारस की सीट से कुल 27 प्रत्याशी खड़े थे. ये लड़ाई उस वक्त और दिलचस्प हो गई थी जब बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव ने मोदी के खिलाफ ताल ठोंक दी थी. उन्हें सपा ने अपना उम्मीदवार बनाकर टिकट दे दिया. चुनाव आयोग ने उनके नामांकन पत्र में गड़बड़ी बताकर नामांकन रद्द कर दिया.

बनारस में अपनी जीत को लेकर मोदी इतने कॉन्फिडेंट थे कि इस बार वहां ज्यादा रैली भी नहीं की. जब नामांकन करने गए तो दो दिन तक जनसभाएं और रोड शो किए थे. बीजेपी के बड़े नेताओं-मंत्रियों का जमावड़ा रहा. कांग्रेस और सपा प्रचार में भी पीछे रहे. कांग्रेस से प्रियंका गांधी ने रोड शो किया.

2014 में मोदी की टक्कर आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल से थी. केजरीवाल को 3 लाख 71 हजार 784 वोटों से हराया था. कुल 5 लाख 81 हजार 22 वोट मिले थे. कांग्रेस के प्रत्याशी अजय राय को मात्र 75 हजार 614 वोट मिले थे.