वोट डालने से चूके दिग्विजय सिंह, शिवराज सिंह और पीएम मोदी के निशाने पर आ गए

दिग्विजय सिंह भोपाल से प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ कांग्रेस के उम्मीदवार हैं. मतदान के दिन वो भोपाल में ही जमे रहे, वोट डालने अपने घर नहीं जा सके. अब आलोचना हो रही है.

मध्य प्रदेश के भोपाल में 12 मई को मतदान हुआ. यहां कड़ा मुकाबला कांग्रेस के दिग्विजय सिंह और बीजेपी की प्रज्ञा ठाकुर के बीच है. दिग्विजय सिंह सारा दिन अपने क्षेत्र यानी भोपाल में जमे रहे. उनका वोट राजगढ़ में पड़ना था लेकिन वहां जा नहीं सके. सुबह पत्रकारों के पूछने पर उन्होंने बताया कि जाने का प्रयास कर रहे हैं.

आखिर शाम को वोटिंग बंद हो गई और दिग्विजय सिंह वोट डालने से रह गए. विरोधियों ने इस बात पर उन्हें घेरना शुरू कर दिया. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि ‘दिग्गी राजा ने आज गजब कर दिया. इतने घबराए कि वोट डालने नहीं गए. भोपाल में ही पोलिंग पोलिंग घूमते रहे. मतदान लोकतंत्र में हमारा परम कर्तव्य है. एक व्यक्ति जो 10 साल सीएम रहा, वोट न डाले तो लोकतंत्र के प्रति उनकी भावनाओं को समझा जा सकता है.’

13 मई को पीएम मोदी रैली करने रतलाम गए हैं. वहां मंच से उन्होंने भी दिग्विजय सिंह को घेरा. कहा ‘देश अपने प्रतिनिधि चुन रहा है. मैं वोट डालने अहमदाबाद गया. राष्ट्रपति-उप राष्ट्रपति अपना वोट डालने के लिए लाइन में खड़े रहे. लेकिन दिग्गी राजा को वोट डालने की जरूरत नहीं महसूस हुई.’

दिग्विजय सिंह कांग्रेस की तरफ से भोपाल में प्रत्याशी चुने गए. उसके काफी दिन बाद बीजेपी ने अपने पत्ते खोले और प्रज्ञा ठाकुर को उम्मीदवार बनाया. उसके बाद ही ये मुकाबला रोमांचक हो गया. 12 तारीख को दोनों की किस्मत ईवीएम मशीनों में बंद हुई. 23 को रिजल्ट पता चलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *