चुनाव खत्म, अब प्रज्ञा ठाकुर करने जा रही हैं कठोर तपस्या

प्रज्ञा ठाकुर ने अपने बयानों के लिए एक बार फिर माफी मांगी है. साथ ही कहा है कि वो तपस्यारत होने जा रही हैं.

लोकसभा चुनाव संपन्न हो चुके हैं, बस रिजल्ट आना बाकी है. सभी नेता चुनाव प्रचार से थके हारे आगे की तैयारियों में व्यस्त हैं. भोपाल से बीजेपी की प्रत्याशी और अपने बयानों के कारण विवादों में रही प्रज्ञा ठाकुर ने अपनी योजना ट्विटर पर बताई है. उन्होंने एक बार फिर माफी मांगते हुए लिखा है कि अब चिंतनन मनन का समय है. मेरे शब्दों से समस्त देशभक्तों को यदि ठेस पहुंची है तो मैं क्षमा प्रार्थी हूं. सार्वजनिक जीवन की मर्यादा के अंतर्गत प्रायश्चित हेतु तपस्या करने जा रही हूं.

बता दें कि अंतिम चरण की वोटिंग से तीन दिन पहले प्रज्ञा ठाकुर के बयान से सियासी तूफान आ गया था. उन्होंने नाथूराम गोडसे के बारे में कहा था कि वो देशभक्त थे, हैं और रहेंगे. इस पर बीजेपी ने खुद को अलग करते हुए प्रज्ञा से माफी मांगने को कहा. दबाव बढ़ता देख देर रात प्रज्ञा ने माफी मांग ली थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रज्ञा के बयान को घृणा के लायक बताया था. कहा था कि कभी मन से माफ नहीं कर पाऊंगा. प्रज्ञा ठाकुर ने पहले भी विवादित बयान दिया था. 26/11 मुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे के बारे में कहा था कि मैंने उन्हें श्राप दिया था.