‘MP, छत्तीसगढ़, राजस्थान में कांग्रेस की जीत साजिश थी’

कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने न केवल एग्जिट पोल को गलत बताया है, बल्कि EVM पर सवाल खड़ा करते हुए अपनी ही पार्टी की जीत को साजिश का हिस्सा बता दिया.

नई दिल्ली: 2019 लोकसभा चुनाव के परिणाम से पहले 19 मई को आए एग्जिट पोल ने सियासी सूबे में हलचल मचा दी. एग्जिट पोल के मुताबिक NDA की सरकार बनने के आसार हैं. वहीं विपक्षी दलों के नेता एग्जिट पोल के नतीजों से सहमत नहीं दिख रहे हैं.

वहीं कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा, ‘सभी सभी एग्जिट पोल एकतरफा नतीजे दिखा रहे हैं, इसलिए हम उसपर भरोसा नहीं कर रहे हैं. अगर एग्जिट पोल के नतीजे सही साबित होते हैं, तो इसका मतलब ईवीएम में धांधली हुई है.’

‘कांग्रेस की जीत साजिश थी’

उन्होंने कहा कि ‘अगर एग्जिट पोल जैसे रिजल्ट आते हैं तो हमारा मानना है कि पिछले दिनों तीन राज्यों के चुनाव में जहां-जहां कांग्रेस जीती है वह एक साजिश थी. तीन राज्यों में कांग्रेस की जीत के साथ ये भरोसा दिलाया गया कि EVM सही है. इससे उन्होंने यह भी साबित करने की कोशिश की कि चुनाव आयोग पर सरकार का कोई दखल नहीं है.’

कांग्रेस ने दिया टिकट, नहीं लड़ा चुनाव

राशिद अल्वी कांग्रेस की तरफ से राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं. 2011 से 2013 तक कांग्रेस के प्रवक्‍ता भी रहे हैं. अमरोहा लोकसभा सीट से राशिद अल्वी पूर्व में बसपा के टिकट पर 1999 का आम चुनाव यहां से जीत चुके हैं. कांग्रेस ने UP के अमरोहा से राशिद अल्वी को 2019 लोकसभा चुनाव में अपना उम्‍मीदवार घोषित किया था, लेकिन उन्‍होंने चुनाव लड़ने से मना कर दिया था.

क्या रहा एग्जिट पोल

TV9 भारतवर्ष और सी-वोटर के Exit Poll के मुताबिक बीजेपी एक बार फिर से नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र में सरकार बनाने में सफल रहेगी जबकि कांग्रेस इस बार अपनी सीटों की संख्या तो ज़रूर बढ़ा लेगी पर 100 के आंकड़ों को नहीं छू पाएगी. TV9 भारतवर्ष और सी-वोटर के Exit Poll के मुताबिक इस बार बीजेपी को कुल 236 सीटें मिल सकती हैं जबकि एनडीए को 287 सीट मिलने का अनुमान है. बता दें कि पिछली बार यानि कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 282 सीटें हासिल की थी जबकि कुल मिलाकर एनडीए के पास 336 सीटें मिली थीं.

ये भी पढ़ें- Exit Poll 2019: अबकी बार भी मोदी सरकार, जानें किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें?

ये भी पढ़ें- यूपी में बीजेपी रह गई आधी, गठबंधन ने मारी आधी सीटों पर बाज़ी