बीजेपी के 1,114 व्हाट्सएप ग्रुप अकेले चलाता है ये शख्स

दीपक का कहना है कि उनके साथ कई कार्यकर्ता जुड़े हैं, जिनके कारण ही यह संभव हो पाया कि पार्टी कई जगहों पर वोटर्स तक पहुंचने में कामयाब हुई.

कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक आईटी पदाधिकारी हैं, जिनका नाम है दीपक दास. दीपक दास की नजरें हमेशा उनके फोन पर बनी रहती है फिर वो चाहे राजनीतिक रैलियां हों, पार्टी कार्यलय की बात हो, घर हो या अपनी छोटी सी फार्मेसी. दीपक जहां भी हों उनकी नजर फोन से नहीं हटती. दिपक दास कूच बीहड के गोपाल पुर गांव से ताल्लुक रखते हैं.

कूच बीहड़ में दीपक दास को बीजेपी का आईटी योद्धा माना जाता है, जो कि अकेले ही पार्टी के लिए 1,114 व्हाट्सएप ग्रुप मैनेज करते हैं. दीपक दास के अनुसार, वे बीजेपी का ट्विटर और फेसबुक अकाउंट भी सम्भालते हैं. इस पर बात करते हुए दीपक दास ने कहा, “मैं पार्टी का जिला आईटी सेल कन्वेनर हूं. मैं 1,114 व्हाट्सएप ग्रुप का एडमिन हूं और साथ ही पार्टी का फेसबुक पेज और ट्विटर ट्रेंड भी देखता हूं.”

दीपक का कहना है कि उनके साथ कई कार्यकर्ता जुड़े हैं, जिनके कारण ही यह संभव हो पाया कि पार्टी कई जगहों पर वोटर्स तक पहुंचने में कामयाब हुई. वे इसके लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं क्योंकि राज्य में तृणमूल कांग्रेस का आतंक है और ऐसे में बीजेपी कैम्पेन को फिजिकली सफलतापूर्वक पूरा करना संभव नहीं है.

दीपक दास ने कहा, “मैं एक नंबर से 229 व्हाट्सएप ग्रुप का एडमिन हूं और दूसरे नंबर से 885 ग्रुप का एडमिन हूं. प्रत्येक ग्रुप में कम से कम 30 लोग हैं और ज्यादा से ज्यादा 250 लोग शामिल हैं. लोगों की संख्या बदलती रहती हैं क्योंकि कुछ लोग ग्रुप से जुड़ते हैं तो कई लोग लेफ्ट मार देते हैं.”

इसके साथ ही दीपक दास ने बताया कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पर की गई इंडियन एयरफोर्स की कार्रवाई के दौरान उन्होंने 24 घंटे काम किया था. दीपक दास 12वीं क्लास तक ही पढ़े हुए हैं. उन्होंने आगे पढ़ाई इसलिए नहीं की क्योंकि वे उच्च शिक्षा अफॉर्ड नहीं कर सकते थे. उन्होंने 2014 में बीजेपी ज्वाइन की थी और तबसे ही वे पार्टी के लिए काम कर रहे हैं.