रिटायर्ड IAS से लेकर डॉक्टर-इंजीनियर-बिजनेसमैन-गायक तक, बेहद अनूठा है मोदी कैबिनेट

पीएम मोदी के नए मंत्रिमंडल में 8वीं बार चुनाव जीते संतोष कुमार गंगवार को शामिल हैं. वहीं, पहली बार सांसद बनीं देबाश्री को भी जगह मिली है.

नई दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन परिसर में गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित 58 मंत्रियों पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई. इस दौरान मोदी के अलावा 24 ने कैबिनेट मंत्री के रूप में, 9 ने स्वतंत्र प्रभार और 24 ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली. शाम सात बजे शुरू हुआ शपथ ग्रहण समारोह करीब नौ बजे तक चला.

मंत्रिमंडल में 10 राज्यसभा सदस्य
इस बार का केंद्रीय मंत्रिमंडल कई मामलों में अनोखा है. 58 में 10 मंत्री ऐसे हैं जो राज्यसभा के सदस्य हैं. इनमें दो महानुभाव (रामविलास पासवान, डॉ एस. जयशंकर) ऐसे भी है जो किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं.

पीएम मोदी के नए मंत्रिमंडल में पूर्व सेनाध्यक्ष हैं, पूर्व आईएएस हैं और पूर्व आईएफएस भी हैं. साथ ही डॉक्टर हैं, सीए हैं, इंजीनियर हैं, बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष हैं, लॉ प्रोफेशनल हैं, बिजनेसमैन हैं, गायक हैं, पूर्व मुख्यमंत्री भी हैं और पूर्व सरपंच भी हैं.

8 बार के सांसद से लेकर नए चेहरे तक
बीजेपी नेता संतोष कुमार गंगवार को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है. गंगवार आठ बार बरेली से चुनाव जीत चुके हैं. पश्चिम बंगाल बीजेपी नेता देबाश्री चौधरी भी मंत्रिमंडल का हिस्सा बनाई गई हैं. देबाश्री ने पहली बार चुनाव जीता है.

स्मृति ईरानी, गजेंद्र सिंह और कैलाश चौधरी भी मंत्रिमंडल में शामिल हैं. ईरानी ने अमेठी में राहुल गांधी को हराया है. गजेंद्र ने जोधपुर में अशोक गहलोत के बेटे को मात दी है. कैलाश ने बाड़मेर में जसवंत सिंह के बेटे पर जीत दर्ज की है.

कई महिलाएं भी बनाई गईं मंत्री
मोदी मंत्रिमंडल में कई महिलाएं मंत्री बनाई गई हैं. निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी, साध्वी निरंजना, हरसिमरत कौर, रेणुका सिंह, देबाश्री चौधरी मंत्रिमंडल में देश की महिलाओं का प्रतिनिधित्व कर रही हैं. वहीं, मुख़्तार अब्बास नक़वी अकेले ही मंत्रिमंडल में मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व करेंगे.

मंत्रिमंडल में इस बार देश के हर एक कोने के प्रतिनिधि को शामिल करने का प्रयास किया गया है. अरुणाचल प्रदेश से किरण रिजिजू, गोआ से श्रीपाद नाइक, केरल से बी. मुरलीधरन, गुजरात से पुरुषोत्तम रूपला, हिमाचल प्रदेश से अनुराग ठाकुर, असम से रामेश्वर तेली मंत्री बनाए गए हैं.

ये भी पढ़ें-
‘जय श्री राम’ के नारे पर भड़कीं ममता बनर्जी, कहा- कौन है, चमड़ी उधेड़ दूंगी, चीर दूंगी

‘अगले 10-15 साल क‍पालभाति करो’, विपक्ष को ऐसी सलाह क्‍यों दे रहे हैं रामदेव

ICC वर्ल्ड कप: पाकिस्तान-विंडीज की मजबूत बल्लेबाजी के बीच घमासान आज, देखें संभावित प्लेयिंग-XI