केदारनाथ मंदिर में दर्शन के बाद, गुफा में एक दिन के लिए ध्यान मग्न प्रधानमंत्री मोदी

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने गुफा के लिए डेढ़ किलोमीटर की दूरी तय की. जो कि 12,250 फीट ऊंचाई पर स्थित है.

शिमला: लोकसभा चुनाव के लिए लगातार चुनावी सभाओं के बाद जब चुनाव प्रचार थमा तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ में बाबा भोलेनाथ दर्शन के लिए पहुंचे. लगातार सभाओं से आराम मिला तो पीएम मोदी ने केदारनाथ मंदिर परिषद के करीब एक गुफा में ध्यान भी लगाया.

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने गुफा के लिए डेढ़ किलोमीटर की दूरी तय की और मीडिया के अनुरोध पर कैमरों को शुरुआती विजुअल्स बनाने की अनुमति दी. पीएम मोदी अपना ध्यान कुछ घंटों में शुरू करेंगे जो कल सुबह तक चलेगा. गुफा के आसपास के क्षेत्र में किसी भी मीडिया या अन्य लोगों को जाने अनुमति नहीं दी जाएगी.

यह गुफा मंदिर परिसर से करीब डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर है. जो कि 12,250 फीट ऊंचाई पर स्थित है. केदारनाथ मंदिर के कपाट 9 मई को तीर्थयात्रियों के लिए खोले गए थे. 18 मई की सुबह उत्‍तराखंड के केदारनाथ धाम परिसर में हैलीकॉप्टर से उतरने के बाद मोदी सीधे मंदिर गए, जहां उन्होंने भगवान शिव की विशेष पूजा की. इस दौरान अन्य श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं थी. मंदिर श्रद्धलुओं के लिए प्रतिदिन तड़के चार बजे खुल जाता है.

पीएम मोदी ने दर्शन करने के बाद एक वाहन में सवार होकर केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्यो की समीक्षा भी की. जहां साल 2013 में आई बाढ़ में बड़े पैमाने पर नुक्सान पहुंचा था. वहीं, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को गुजरात स्थित सोमनाथ मंदिर में पूजा की.

ये भी पढ़ें- BJP मेरी जान की दुश्मन, इंदिरा गांधी की तरह गार्ड की गोली का हो सकता हूं शिकार: अरविंद केजरीवाल