BJP मेरी जान की दुश्मन, इंदिरा गांधी की तरह गार्ड की गोली का हो सकता हूं शिकार: अरविंद केजरीवाल

ये अंदेशा अरविंद केजरीवाल ने उनपर होते हमलों के बाद जताया है.

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने दावा किया है कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तरह उनकी भी हत्या की जा सकती है. शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उनकी हत्या की साजिश के पीछ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) वाले हैं और एक दिन वे उनकी हत्या कर देंगे.

अरविंद केजरीवाल ने कहा, “पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तरह एक दिन मेरे पर्सनल सिक्यूरिटी ऑफिसर के द्वारा मेरी हत्या की जा सकती है. बीजेपी मेरी जान के पीछे हैं और एक दिन वे मेरी हत्या कर देंगे.”

ये अंदेशा अरविंद केजरीवाल ने उनपर होते हमलों के बाद जताया है. इस महीने की शुरुआत में लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार के दौरान एक व्यक्ति ने उन्हें रोड शो के दौरान थप्पड़ मार दिया था. अरविंद केजरीवाल ने थप्पड़ मारे जाने की घटना की निंदा करते हुए उन पर बार-बार होने वाले हमलों के पीछे बड़ी साजिश होने की आशंका जताई थी और इस घटना के पीछे भाजपा को जिम्मेदार ठहराया था. इस आरोपी की पहचान सुरेश नामक व्यक्ति के रूप में हुई थी, जिसे मोदी का बहुत बड़ा फैन बताया गया था.

पहले भी हो चुके हैं मुख्यमंत्री केजरीवाल पर हमले

यह पहली बार नहीं था, जब अरविंद केजरीवाल पर हमला हुआ. इससे पहले साल 2014 में एक ऑटो ड्राइवर ने केजरीवाल को थप्पड़ मार दिया था. 2014 में जब लोकसभा चुनावों के लिए केजरीवाल दिल्ली में रोड शो निकाल रहे थे तब एक ऑटो ड्राइवर ने उन्हें थप्पड़ जड़ा था.

पंजाब के लुधियाना में फरवरी 2016 में उनकी कार पर लोहे की रॉड और अंडों से हमला किया गया था, जिसमें कार के शीशे टूट गए थे. फरवरी 2016 में अरविंद केजरीवाल की कार पर कुछ लोगों ने लोहे की रॅाड से हमला किया था. 2018 में दिल्ली के नारायणा विहार में एक व्यक्ति ने अपनी फरियाद सुनाने के दौरान केजरीवाल की आंख में लाल मिर्च पाउडर फेंक दिया था.

अपनी नौकरी के लिए प्रतिबद्ध है दिल्ली पुलिस की सुरक्षा इकाई

हालांकि दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री केजरीवाल के बयान के बाद सफाई पेश की है. उनका कहना है कि दिल्ली पुलिस की सुरक्षा इकाई अच्छी तरह से प्रशिक्षित कर्मियों का एक पेशेवर समूह है जो अपनी नौकरी के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं और समर्पण के साथ कर्तव्यों का पालन करते हैं.

दिल्ली पुलिस ने आगे कहा कि यह इकाई सभी राजनीतिक दलों के कई वरिष्ठ लोगों के लिए सुरक्षा कवच का काम कर रही है. उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री से निवेदन करते हुए कहा, “माननीय सीएम, दिल्ली की सुरक्षा टीम में तैनात सुरक्षाकर्मी अपने कर्तव्यों के प्रति समान रूप से प्रतिबद्ध हैं.”