जानें अरविंद केजरीवाल को थप्पड़ मारने वाला किस पार्टी का है सपोर्टर

शुरुआती जांच में सामने आया है कि जिस शख्स ने थप्पड़ मारा है वो आप पार्टी का ही सपोर्टर है. जबकि उसकी पत्नी का कहना है कि वह मोदी के खिलाफ एक शब्द भी नहीं सुन सकता.

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को रोडशो के दौरान एक शख्स ने थप्पड़ जड़ दिया. इस शख्स की पहचान हो चुकी है. इसकी पहचान सुरेश के रुप में हुई है जोकि कैलाश पार्क में रहने वाला है और आप का ही सपोर्टर है. सीएम केजरीवाल दिल्ली के कर्मपुरा इलाके में रोडशो कर रहे थे तभी उनपर ये हमला किया गया. दिल्ली पुलिस ने सुरेश के खिलाफ धारा 323 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है.

लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सातों सीटों पर फतह पाने के लिए सीएम अरविंद केजरीवाल पूरा दमखम लगा रहे हैं. सीएम केजरीवाल अपने प्रत्याशी को जिताने के लिए रोडशो कर वोटो की अपील कर रहे थे, तभी उनके खुले हुए वाहन पर अचानक एक शख्स आता है और उनको थप्पड़ मार देता है.

थप्पड़ मारने वाला शख्स आप का ही निकला
शुरुआती जांच में सामने आया है कि जिस शख्स ने थप्पड़ मारा है वो आप पार्टी का ही सपोर्टर है. ये शख्स आप के संगठन के लिए काम करता है और पार्टी की रैलियों और मीटिंग का मैनेजमेंट देखता था. पिछले कुछ दिनों से वो पार्टी नेताओं के व्यवहार से नाखुश था. इसके अलावा वो शख्स सशस्त्र बलों को लेकर पार्टी में अविश्वास होने से भी गुस्सा में था.

पत्नी ने किया खुलासा
हमलावर की पत्नी ममता का कहना है कि सुरेश काफी समय से केजरीवाल से नाराज था. वो घर से कुछ कह कर नहीं निकला था. लोकल विधायक कुछ दिन पहले उसके पास आए थे और उन्होंने (विधायक) मोदी जी के बारे में उल्टा सीधा बोला, जिसको लेकर भी वो काफी नाराज था. पत्नी ने कहा कि वो मोदी भक्त थे और मोदी के खिलाफ बात करना उसको पसंद नहीं था.


मनीष सिसोदिया का पलटवार
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया है. वो आरोपी के आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता होने की बात पर असंतुष्ट दिखे. उन्होंने लिखा कि हो सकता है दिल्ली पुलिस जांच के बाद महिला को आरोपी की पत्नी मानने से ही इनकार कर दे.

सौरभ भारद्वाज ने किया हमला
दिल्ली से आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा, ‘यह वही दिल्ली पुलिस है जिसने पहले सीएम पर कोई MIRCHI हमला किया था. बाद में दिल्ली सरकार ने सीसीटीवी वीडियो प्रस्तुत किया था. जिसमें दिल्ली पुलिस ने कहा कि यह राजनीतिक परास्नातक है जिसका हम सामना कर रहे हैं. पुलिस का यह राजनीतिक बयान स्वयं इस बात का प्रमाण है कि दिल्ली पुलिस मोदी सरकार के आदेश पर यह सब कर रही है.’