रेप का आरोपी BSP-SP गठबंधन प्रत्याशी फरार, मतदाता परेशान किसे करें वोट

अतुल राय ने रेप मामले में अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन उन्हें वहां से कोई राहत नहीं मिली.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की घोसी लोकसभा सीट से बसपा-सपा प्रत्याशी अतुल राय पिछले कुछ दिनों से गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार हैं. अतुल राय पर एक छात्रा के साथ रेप करने का आरोप है. पुलिस उन्हें पकड़ने के लिए पूरे क्षेत्र में छापेमारी कर रही है लेकिन अभी तक उनका कोई पता नहीं चला है. अतुल बसपा के नेता हैं.

घोसी की जनता में असमंजस
घोसी में लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण यानी 19 मई को मतदान होना है. इस बीच गठबंधन के प्रत्याशी अतुल राय इन दिनों भूमिगत चल रहे हैं. ऐसे में वो क्षेत्र में अपना प्रचार भी नहीं कर पा रहे हैं. इसे देखते हुए घोसी की जनता असमंजस में पड़ गई है. गठबंधन के समर्थकों को समझ नहीं आ रहा कि अब किसे वोट किया जाए.

हाई कोर्ट ने नहीं मिली राहत
अतुल राय ने रेप मामले में अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन उन्हें वहां से कोई राहत नहीं मिली. कोर्ट ने उन्हें गिरफ्तारी पर स्टे देने से इनकार कर दिया. गठबंधन प्रत्याशी का मुकाबला घोसी में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रत्याशी हरि नारायण राजभर से है. भाजपा और विपक्ष प्रचार में इसे बड़ा मुद्दा बना रहे हैं.

छात्रा ने लगाया है आरोप
अतुल राय के खिलाफ एक मई को रेप का मामला दर्ज हुआ था. वाराणसी की एक पूर्व छात्रा ने उन पर यह आरोप लगाया है. छात्रा का आरोप है कि राय अपनी पत्नी से मिलाने के लिए उसे अपने घर ले गए जहां उन्होंने उसका यौन उत्पीड़न किया. हालांकि, राय ने अपने ऊपर लगे आरोप से इंकार किया है.

समर्थक कर रहे जीत का दावा
कोर्ट मामले की गंभीरता को देखते हुए अतुल राय की गिरफ्तारी के लिए गैर जमानती वारंट जारी कर चुका है. लेकिन अभी तक उनकी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है, वो भूमिगत हैं. दूसरी तरफ, सपा-बसपा गठबंधन के समर्थक अतुल राय की जीत का दावा कर रहा है. समर्थकों का कहना है कि अतुल की गैर-मौजूदगी का असर उसके वोट बैंक पर नहीं पड़ने वाला है.

Read Also: BJP सांसद दद्दन मिश्रा और पत्नी की वोट डालते हुए फोटो वायरल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *