केंद्रीय मंत्री हरसिमरत को जब सुबह-सवेरे कह दिया- ‘आपको वोट नहीं देंगे’

रोज़ गार्डन शहर में सुबह सैर के लिए निकले लोगों से हरसिमरत कौर बातचीत कर रही थीं कि इसी बीच 60 वर्षीय एक बठिंडा निवासी ने केंद्रीय मंत्री से दो सवाल पूछने चाहे, लेकिन हरसिमरत कौर ने सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया.

बठिंडा: लोकसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियां वोटर्स को लुभाने के लिए नए-नए तरीके निकाल रहे हैं. वहीं इसी बीच केंद्रीय मंत्री और शिरोमणी अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल भी कुछ ऐसा ही करने निकली थी, लेकिन वे अजीबोगरीब स्थिति में पड़ गईं.

ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रोज़ गार्डन शहर में सुबह सैर के लिए निकले लोगों से हरसिमरत कौर बातचीत कर रही थीं कि इसी बीच 60 वर्षीय एक बठिंडा निवासी ने केंद्रीय मंत्री से दो सवाल पूछने चाहे, लेकिन हरसिमरत कौर ने सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया.

बठिंडा से अकाली दल उम्मीदवार हरसिमरत कौर से बलदेव सिंह नामक व्यक्ति ने कहा, “बीबाजी (हरसिमरत कौर) से मैं दो सवाल पूछना चाहता हूं और यहां से जाने से पहने उन्हें जवाब देना चाहिए. मैं जानता हूं कि लोगों को सवाल पूछने की इजाजत नहीं है लेकिन बीबाजी मेरे दो सवालो का जवाब दीजिए.”

बलदेव की इस बात पर हरसिमरत उखड़ गईं और उन्हें जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री बोलीं, “मेरे पास सवालों का समय नहीं है. यह समय वोट्स का है.”

अपने क्षेत्र की उम्मीदवार का यह रवैया देख बलदेव ने कहा, “ठीक है जी, हमारा भुल्लर समुदाय आपको वोट नहीं देगा, हम पूरे पंजाब में विरोध करेंगे.”

इसके बाद शिरोमणी अकाली दल के कार्यकर्ता हरसिमरत कौर के लोगों के साथ चल रही बातचीत में बाधा डालने को लेकर बलदेव का विरोध करने लगे. इसके बाद वहां थोड़ा हंगामा हो गया और गार्डन से पब्लिक निकल गई.

वहीं इस हंगाने के बाद मीडिया से मुखातिब हुए बलदेव ने कहा, “मैं केवल यह पूछना चाहता था कि शिरोमणी अकाली दल और बीजेपी क्यों साल 2015 में हुए बेहबाल कलन गोलीबारी कांड के पीछे अज्ञात पुलिवालों का हाथ बताते हैं. बस यही सवाल में हरसिमरत कौर से पूछना चाहता था, लेकिन मुझे इजाजत नहीं दी गई.”