Exclusive Report: पटना साहिब में शत्रुघ्न सिन्हा होंगे खामोश या रविशंकर को मिलेगी मात

पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के लोगों ने हमेशा से ही स्टार वार देखा है. इस सीट से बड़े चेहरे ही भाग्य आजमाते हैं. इस बार इस सीट में मुकाबला होगा एक राजनेता और एक अभिनेता में. देखिए ग्राउंड जीरो से हमारी रिपोर्ट...

पटना: शाद से नाशाद होता जा रहा हूं, आबाद से नाबाद होता जा रहा हूं, मैं अज़ीमाबाद होता जा रहा हूं… ये शेर इस शहर के मिजाज को समझने के लिए काफी है. पुराना अजीमाबाद और आज का पटना साहिब है. बिहार का संसदीय क्षेत्र पटना साहिब का अपना अलग ही ऐतिहासिक और राजनीतिक महत्व है. बिहार की ये हाई प्रोफाइल सीट पर मुकाबला है एक राजनेता और एक अभिनेता के बीच. वो राजनेता जो पहली बार जनता की अदालत में जा रहा है. वो अभिनेता जो अभी तक इस सीट में विरोधियों को खामोश करता आया है.

टीवी9 भारतवर्ष के संवाददाता रुपेश कुमार ने पटना साहिब की सियासती नब्ज टटोलने की कोशिश की. पटना साहिब के लोगों ने बड़ी नपी-तुली प्रतिक्रियाएं दी लेकिन इससे ये तो जाहिर हो गया की चाहे नेता हो या अभिनेता कल के अजीमाबाद के अजीज होना उनके लिए आसान नहीं होगा. चाय के चौपाल पर जब संवाददाता पहुंचे तो लोगों ने तपाक से जवाब दिया कि वो तो बिहारी बाबू को ही चुनेंगे. वो यहां के स्टार हैं. यानि मतलब साफ है कि शॉटगन की अपनी लोकप्रियता भी कम नहीं है. वहीं एक बात और भी सामने आ रही है वो ये है कि रविशंकर प्रसाद को यहां की जनता अभी अपना नहीं रही है. लोग पीएम मोदी के नाम पर तो वोट देने के लिए कह रहे हैं लेकिन रविशंकर प्रसाद पर उनकी जुबान नहीं खुली.

पटना समेत पूरे बिहार की पहचान है पूरे बिहार की शान है मां गंगा, कार्यक्रम के आखिरी पड़ाव में संवाददाता मां गंगा के चरणों में पहुंचे. पटना साहिब के लोगों के मन की बात तो आप सुन ली है अब थोड़ा सुन लीजिए मां गंगा के मन की बात. थक कर बैठी हुई उम्र के इस ढलान पर, कभी बहा करती थी यह गंगा पूरे उफान पर, वर्षों का इतिहास समेंटे, कथा कह रही आंसू पीते, मलबा ढोते, बस बह रही, टुकड़ों में बट जाती है, यहां हर कटान पर.