बिजनौर के लोगों ने किया मतदान बहिष्कार करने का ऐलान, बोले- रोड़ नहीं तो वोट नहीं

मजलिस तौफीकपुर के लोगों ने धमकी दी है कि अगर मुख्य सड़क को गांव से नहीं जोड़ा जाता और अन्य भागों का निर्माण नहीं कराया जाता है तो वे लोकसभा चुनाव में मतदान का पूर्ण रूप से बॉयकोट करेंगे.

बिजनौर: जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव में होने वाले मतदान की तारीख पास आ रही है, राजनीतिक दलों के उम्मीदवार मतदाताओं को लुभाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे. इसी बीच उत्तर प्रदेश के बिजनौर से एक खबर सामने आई है कि यहां के लोगों ने फैसला किया है कि वे किसी भी पार्टी को वोट नहीं देंगे क्योंकि सड़कों की हालत खस्ता है और किसी भी पार्टी ने उनके लिए काम नहीं किया.

एएनआई की रिपोर्ट में कहा गया है कि, मजलिस तौफीकपुर के लोगों ने धमकी दी है कि अगर मुख्य सड़क को गांव से नहीं जोड़ा जाता और अन्य भागों का निर्माण नहीं कराया जाता है तो वे लोकसभा चुनाव में मतदान का पूर्ण रूप से बॉयकोट करेंगे.

रिपोर्ट के अनुसार, गांव के कुलदीप सैनी ने कहा, “हमारा गांव बिजनौर लोकसभा क्षेत्र में आता है. लोकसभा चुनाव के लिए कई राजनेता आए लेकिन कोई कुछ नहीं करता. मुख्य सड़क की हालत बहुत खस्ता है, इसलिए अब गांव के लोगों ने फैसला लिया है कि अब तभी वोट किया जाएगा जब यहां पर सही सड़क का निर्माण हो जाएगा.”

वहीं अन्य ग्रामीण वीर सिंह ने कहा, “हमारी बहुत सी समस्याएं हैं लेकिन सड़क की समस्या से हम बहुत ज्यादा प्रभावित हैं. सड़क की हालत बहुत खराब है और बड़े-बड़े गद्ढे भी हैं. यहां कई सड़क दुर्घटना हुई हैं, जिनमें बच्चे गंभीर रूप से घायल हुए हैं. अब हम केवल काम के आधार पर वोट देंगे, वरना नहीं देंगे.” वहीं ग्रामीणों के इस फैसला का समर्थन यहां के सरपंच ने भी किया. उन्होंने बताया कि 2013 में सड़क टूट गई थी और तबसे लेकर अभी तक इसे फिरसे बनवाया नहीं गया है.