अमित शाह जिसकी कर्मभूमि से लड़ रहे हैं चुनाव, वो ही उनके नामाकंन से रहे नदारद

अमित शाह वर्तमान में राज्यसभा सांसद हैं और पहली बार गांधीनगर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं. साल 1998 से ही इस सीट से वरिष्‍ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी चुनाव लड़ते आ रहे थे.

अहमदाबाद: बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी के चुनाव क्षेत्र गांधीनगर से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने नामांकन पत्र दाखिल किया. अमित शाह ने पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं. उनके नामांकन में बीजेपी सहित एनडीए के नेता शामिल हुए लेकिन बीजेपी के पितामह लालकृष्ण आडवाणी उनकी सभा से नदारद रहे.

पर्चा भरने पहुंचे शाह के साथ बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता व केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, अरुण जेटली और शिवसेना अध्‍यक्ष उद्धव ठाकरे भी मौजूद रहे. इससे पहले उन्‍होंने अहमदाबाद में रोड शो और विजय संकल्प सभा का आयोजन भी किया, जिसमें NDA के शीर्ष नेताओं ने शिरकत की.

आडवाणी रहे नदारद
पर्चा भरने के दौरान अमित शाह के साथ केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, नितिन गडकरी, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, पंजाब के पूर्व मुख्‍यमंत्री और शिरोमणी अकाली दल के प्रमुख प्रकाश सिंह बादल और लोजपा अध्‍यक्ष केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान जैसे बड़े नेता मौजूद रहे. वहीं साल 1998 से चुनाव लड़ते आ रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी इस सभा में नहीं दिखे.

1998 से ही लालकृष्ण आडवाणी हैं सांसद
बता दें कि अमित शाह वर्तमान में राज्यसभा सांसद हैं और पहली बार गांधीनगर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं. साल 1998 से ही इस सीट से वरिष्‍ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी चुनाव लड़ते आ रहे थे. शाह ने सभा में कहा कि, मैं आडवाणी जी की विरासत को पूरी विनम्रता से संभालूंगा. उन्‍होंने गुजरात की जनता से सभी 26 लोकसभा सीट ‘पीएम मोदी की झोली’ में डाल देने का आग्रह किया.

पीएम मोदी और एनडीए की सरकार दे सकती है सुरक्षा- अमित शाह
विजय संकल्प सभा को संबोधित करते हुए शाह ने यह भी कहा कि आज देश को सुरक्षा सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और एनडीए की सरकार दे सकती है. अमित शाह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘आज गांधीनगर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी के रूप में नांमाकन करने जा रहा हूं. मुझे आज 1982 के दिन याद आ रहे हैं. जब मैं यहां के एक छोटे से बूथ का बूथ अध्यक्ष था’ अहमदाबाद में आयोजित ‘विजय संकल्‍प सभा’ में अमित शाह के बेटे जय शाह भी उनके साथ रहे.

क्या बोले नेता

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह
“अमित शाह बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी का उत्तराधिकार संभालने जा रहे हैं.” पीएम मोदी की तारीफ करते हुए उन्‍होंने कहा कि “पिछले 5 वर्षों में उनके नेतृत्‍व में भारत बड़ी वैश्विक ताकत के रूप में उभरा है. उन्‍होंने जोर देकर कहा कि देश का नेतृत्‍व आज सशक्‍त हाथों में है.”

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान
लोजपा प्रमुख ने पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्‍यक्ष की तारीफ की और कहा कि वे लगातार काम करते हैं. उन्‍होंने 2019 के चुनाव में एनडीए को 2014 से भी अधिक सीटें मिलने का भरोसा जताया.

उद्धव ठाकरे
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि, ‘हमारे बीच में कुछ मतभेद थे, लेकिन हमने उन्‍हें दूर कर लिया है. मैं यहां अमित भाई को समर्थन देने आया हूं. बीजेपी और हमारी विचारधारा एक है. हम इसे ही आगे लेकर आगे बढ़ रहे हैं.