ममता से मिले चंद्रबाबू नायडू, चुनाव बाद होने वाले गठबंधन को लेकर तेज हुआ मुलाकातों का दौर

विपक्षी दलों के मुखियाओं के बीच होने वाली इन मुलाकातों के दौर का मकसद यही है कि चुनाव बाद अगर वैकल्पिक नतीजे आते हैं तो तमाम विपक्षी दल किसी एक नाम पर सहमत हो सकें.

नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने के एक दिन बाद सोमवार को कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिलने पहुंचे हैं. टीडीपी प्रमुख 23 मई को लोकसभा चुनाव परिणामों से पहले भाजपा के खिलाफ विपक्षी दलों को एकजुट करने के अपने प्रयासों के तहत तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी से मुलाकात कर रहे हैं.

न्यूज एजेंसी के सूत्रों ने बताया था कि “नायडू और ममता बनर्जी ‘महागठबंधन’ की रणनीतियों पर बातचीत करेंगे.” सूत्रों का कहना है कि ममता बनर्जी के साथ बातचीत के दौरान, नायडू नई दिल्ली में सभी राजनीतिक नेताओं के साथ अपनी बैठक की जानकारी भी उन्हें देंगे.

चंद्रबाबू नायडू ने रविवार को राहुल गांधी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के महासचिव सीताराम येचुरी के साथ मुलाकात की थी. शनिवार को उन्होंने बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती और समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव से मुलाकात की थी.

आखिरी चरण के बाद तेज हुआ मुलाकातों का दौर

ये सभी मुलाकातें आखिरी चरण के मतदान के बाद और तेज हो गई हैं. विपक्षी दलों के मुखियाओं के बीच होने वाली इन मुलाकातों के दौर का मकसद यही है कि चुनाव बाद अगर वैकल्पिक नतीजे आते हैं तो तमाम विपक्षी दल किसी एक नाम पर सहमत हो सकें. इसकी कमान संभाली है टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने. हालांकि सातवें चरण के बाद जारी हुए एग्जिट पोल्स के मुताबिक बीजेपी फिर एक बार सत्ता में आने वाली है.

हालांकि एग्जिट को “गॉसिप” बताते हुए, टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने रविवार को कहा था कि उन्हें इस तरह के एग्जिट पोल पर भरोसा नहीं है. उनका कहना है कि इन पोल्स को एक “गेम प्लान” की तरह उपयोग किया जा रहा है जिससे वह ईवीएम में “हेरफेर” कर सकें.

ये भी पढ़ें- एक्ज़िट पोल्स के बाद अखिलेश-माया की मुलाकात, विपक्षियों की बैठक में दिल्ली नहीं जाएंगी BSP सुप्रीमो