पंजाब में हुआ कांग्रेस का सफाया तो दे दूंगा इस्तीफा: मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भले ही कांग्रेस की हार को लेकर अपने रिजाइन की बात छेड़ी हो, लेकिन उन्हें पूरा विश्वास है कि पार्टी राज्य की 13 की 13 लोकसभा सीट जीतेगी.

चंडीगढ़: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के लिए आखिरी चरण में 19 मई को मतदान होंगे. पंजाब की 13 सीटों पर रविवार को लोग वोट डालकर राजनेताओं की किस्मत का फैसला करेंगे.

वहीं इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि अगर पंजाब में पार्टी चुनाव में अच्छा प्रदर्शन नहीं करके दिखाती है, तो इसकी जिम्मेदारी खुद पर लेते हुए वे इस्तीफा दे देंगे.

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा, “राज्य में कांग्रेस पार्टी के प्रदर्शन की जिम्मेदारी सभी मंत्रियों और विधायकों को दे दी गई है. अगर ऐसे में इन लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का सफाया होता है, तो इसकी पूरी तरह से जिम्मेदारी मैं लूंगा और इस्तीफा दे दूंगा.”

इसके बाद मुख्यमंत्री बोले, “पार्टी आलाकमान ने फैसला लिया है कि सभी मंत्री और विधायक कांग्रेस उम्मीदवारों की जीत या हार की जिम्मेदारी लें. मैं भी इस जिम्मेदारी के लिए तैयार हूं, लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि राज्य में पार्टी सभी सीटों पर क्लीन स्विप मारेगी.”

इन दिनों पंजाब कांग्रेस में कुछ ठीक नहीं चल रहा है, इसका अंदाजा पार्टी नेता नवजोत कौर सिद्धू के हालिया बयान से लगाया जा सकता है. नवजोत कौर सिद्धू ने कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर उन्हें चंडीगढ़ या अमृतसर से लोकसभा टिकट नहीं देने का आरोप लगाया था.

इसके बाद नवजोत कौर के दावों को खारिज करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी को चुनाव लड़ने के लिए टिकट ऑफर की गई थी, लेकिन उन्होंने खुद ही मना कर दिया.

ये भी पढ़ें-    मेरी पत्नी झूठ नहीं बोलती, कांग्रेस के टिकट न देने वाले नवजोत कौर के दावे पर बोले सिद्धू

राहुल गांधी की रैली में नहीं मिला बोलने का मौका, भड़के तेज प्रताप यादव