हरियाणा, कांग्रेस-आप गठबंधन गेम में एक बार फिर आया नया ट्विस्‍ट
हरियाणा, कांग्रेस-आप गठबंधन गेम में एक बार फिर आया नया ट्विस्‍ट

कांग्रेस-आप गठबंधन गेम में एक बार फिर आया नया ट्विस्‍ट

गुरुवार को खबर आई कि हरियाणा में कांग्रेस-आप के बीच गठबंधन हो गया है और गुलाम नबी आजाद जल्‍द इसकी घोषणा कर सकते हैं, लेकिन जब प्रेस कॉन्‍फ्रेंस हुई तो पूरा मामला उलट गया.
हरियाणा, कांग्रेस-आप गठबंधन गेम में एक बार फिर आया नया ट्विस्‍ट

चंडीगढ़: आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच चल गठबंधन खिचड़ी पकने का नाम ही नहीं ले रही है. लंबी माथापच्‍ची के बाद गुरुवार को खबर आई कि हरियाणा में आप-कांग्रेस-जेजेपी के बीच गठबंधन हो गया है. सूत्रों के हवाले से खबर आई कि गुरुवार तड़के गुलाम नबी आज़ाद की मुलाकात संजय सिंह से हुई थी, लेकिन गुलाम नबी ने साफ कर दिया कि यह मुलाकात गठबंधन को लेकर नहीं थी. हालांकि, सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस हरियाणा में 6-3-1 के फॉर्मूले पर मन बना चुकी है. वहीं, आम आदमी पार्टी के सूत्रों के मुताबिक आप 6-3-2 फॉर्मूले पर विचार कर रही है.

साथ ही बुधवार को आम आदमी पार्टी की तरफ से कोई भी नेता कैमरे पर कुछ भी बोलने से बचते रहे, साथ ही सूत्रों ने बताया की AAP के शीर्ष नेतृत्व की तरफ से सभी नेताओं को हिदायत दी गई है कि तस्वीर साफ होने तक गठबंधन के मुद्दे पर कोई भी बयान जारी न करें.

गुरुवार को पहले खबर आई कि गुलाम नबी आज़ाद थोड़ी देर में गठबंधन का ऐलान करने वाले हैं. वह प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करने आए भी, लेकिन गठबंधन से साफ मुकर गए. प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में आजाद ने कहा कि हरियाणा में इस तरह के गठबंधन की कोई चर्चा नहीं चल रही दिल्ली के गठबंधन को लेकर दिल्ली के प्रभारी कर रहे होंगे. कांग्रेस हरियाणा में अपने दम पर चुनाव लड़ने में सक्षम है.

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है अगर राष्ट्रीय स्तर पर कोई समझौता होता है तो उसका असर हरियाणा पर भी होगा. हरियाणा में आप से गठबंधन की कोई बात ही नहीं है.

उधर, आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि बीजेपी को रोकने के लिए हम गठबंधन करना चाहते थे, लेकिन कांग्रेस मूड में नहीं है. सारे प्रयासों के बावजूद कोई बात नहीं बनी. हरियाणा में 6-3-1 का फार्मूला दिया था. उन्‍होंने कहा कि गुलाम नबी आज़ाद और भूपेंद्र हुड्डा के बयान से साफ है कि वो गठबंधन नहीं चाहते. संजय सिंह ने यह भी दावा किया कि हम दिल्‍ली में 4-3 के फॉर्मूले पर राजी हो गए थे, लेकिन कांग्रेस समझौते के मूड में नहीं है.

ये भी पढ़ें- दरवाजे अब भी खुले, राहुल गांधी के इस ट्वीट के बाद केजरीवाल ने क्या कहा, पढ़ें

हाल ही में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने आप के साथ गठबंधन पर बड़ा बयान दिया था. गठबंधन को लेकर दोनों पार्टियों के बीच कभी हां, कभी ना, के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने AAP के सामने खुली पेशकश कर डाली.

राहुल गांधी ने दिल्‍ली की 7 लोकसभा सीटों में से 4 सीटें आप को देने का खुला ऑफर दे डाला. राहुल गांधी ने अरविंद केजरीवाल पर यू-टर्न लेने का भी आरोप लगाया.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस ने केजरीवाल को बताया विलन, इस जिद के कारण नहीं हो सका सीट शेयरिंग समझौता

राहुल गांधी के आरोप के बाद अरविंद केजरीवाल ने पलटवार करते हुए कहा, ‘कौन सा U-टर्न? अभी तो बातचीत चल रही थी. आपका ट्वीट दिखाता है कि गठबंधन आपकी इच्छा नहीं मात्र दिखावा है. मुझे दुःख है आप बयानबाज़ी कर रहे हैं. आज देश को मोदी-शाह के ख़तरे से बचाना अहं है. दुर्भाग्य कि आप UP और अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बाँट कर मोदी जी की मदद कर रहे हैं.’

हरियाणा, कांग्रेस-आप गठबंधन गेम में एक बार फिर आया नया ट्विस्‍ट
हरियाणा, कांग्रेस-आप गठबंधन गेम में एक बार फिर आया नया ट्विस्‍ट

Related Posts

हरियाणा, कांग्रेस-आप गठबंधन गेम में एक बार फिर आया नया ट्विस्‍ट
हरियाणा, कांग्रेस-आप गठबंधन गेम में एक बार फिर आया नया ट्विस्‍ट