Exclusive: खुशबू सुंदर ने दी पीएम मोदी को चुनौती, कहा- हिम्मत है तो वायनाड से लड़कर दिखाएं चुनाव

200 से ज्यादा फिल्मों में एक्टिंग कर चुकीं खुशबू ने हिन्दी फिल्मों से डेब्यू किया था. सबसे पहले उन्हें 1980 में आई फिल्म 'द बर्निंग ट्रेन' में देखा गया था.

नई दिल्ली: तमिल एक्ट्रेस और कांग्रेस लीडर खुशबू सुंदर(Khushbu Sundar) ने TV9 भारतवर्ष से exclusive बातचीत में पीएम मोदी(PM Modi) को चुनौती देते हुए कहा है कि अगर हिम्मत है तो मोदी वायनाड(Wayanad) से चुनाव लड़कर दिखाएं. खुशबू सुंदर 2014 में कांग्रेस(Congress) पार्टी में शामिल हुई थीं. खुशबू हाल ही में तब भी चर्चा में रही थीं जब उन्होंने एक कांग्रेस प्रत्याशी के प्रचार में बदतमीजी करने वाले एक शख्स को थप्पड़ जड़ दिया था.

‘खुद डरी हुई हैं स्मृति ईरानी, राहुल गांधी ने अमेठी नहीं छोड़ी’

स्मृति ईरानी के उन दावों पर जब खुशबू से पूछा गया कि स्मृति ईरानी कहती हैं कि उन्होंने राहुल गांधी को अमेठी से भगा दिया तो इस पर जवाब देते हुए खुशबू ने कहा कि ‘ये तो स्मृति ईरानी का डर है. राहुल(Rahul Gandhi) जी अमेठी को छोड़कर कहां गए हैं? स्मृति ईरानी को तो छोड़िए अगर मोदी साहब में हिम्मत है तो आ जाएं, अखाड़े में उतर आएं.. वायनाड आ जाएं, अगर हिम्मत है तो राहुल जी के खिलाफ खड़े हो जाएं’

यह भी पढ़ें, शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सपा में शामिल, लखनऊ से राजनाथ को देंगी टक्कर

खुशबू ने आगे कहा, ‘राहुल जी यहां वायनाड से खड़े होकर नार्थ और साउथ के बीच के ब्रिज बने हैं और यहां उनका प्यार दिखता है कि दक्षिण के लोगों की समस्याएं हमारी समस्याएं हैं और यहां की आवाज़ दिल्ली तक पहुचेंगी. दक्षिणी भारत में राहुल गांधी जी के लिए जो प्यार है वह यहां नज़र आता है.’

राहुल गांधी के लड़ने का असर तमिलनाडु और कर्नाटक में होगा

दक्षिण भारत की समस्याओं पर बात करते हुए खुशबू ने कहा कि पिछले 5 साल में दक्षिण भारत की तकलीफें जैसे बाढ़, किसानों की समस्या कभी राष्ट्रीय मुद्दे नहीं बनते. यहां के लोग भी चाहते है कि हम भी इस देश का हिस्सा बनें, हमारी समस्याओं पर भी केंद्र सरकार को ध्यान देना चाहिए लेकिन ऐसा नही हुआ और पिछले 5 साल में हम लोगों को किनारे कर दिया गया. राहुल गांधी की जीत पर बोलते हुए खुशबू ने कहा कि हम राहुल जी की जीत का रिकॉर्ड वायनाड में बनाएंगे.

यह भी पढ़ें,मेट्रो ट्रेन के गेट में फंसी महिला की साड़ी, प्लेटफॉर्म पर ऐसे बची जान