कांग्रेस के घोषणापत्र में ‘गरीबी पर वार, 72 हजार’ सबसे ऊपर, ये हैं अन्य खास बातें

राहुल गांधी ने घोषणा की कि हम देश के किसानों के लिए अलग से बजट लेकर आएंगे. जैसे रेल के लिए अलग बजट होता था, वैसे ही किसानों के लिए भी अलग से बजट होगा.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के लिए मंगलवार को कांग्रेस पार्टी ने अपना ‘जनआवाज’ नाम से घोषणापत्र जारी कर दिया. पार्टी ने इसका नारा ‘हम निभाएंगे’ रखा है. घोषणा पत्र जारी करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जनता से पांच बड़े वादे किए, जिनमें ‘गरीबी पर वार, 72 हजार’ सबसे ऊपर रहा.

इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मंच पर मौजूद हैं. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा अन्य कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ मंच से अलग बैठी हैं.

कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में पांच बड़े वादे किए हैं. ये इस प्रकार से हैं-

1. देश के 20 फीसदी सबसे ज्यादा गरीब लोगों के खाते में हर साल 72,000 रुपये डाले जाएंगे.

2. कांग्रेस ने 22 लाख सरकारी नौकरियों देने वादा किया है. 10 लाख लोगों को ग्राम पंचायतों में रोजगार दिया जाएगा. कारोबार शुरू करने के लिए तीन साल तक किसी से भी अनुमति की जरूरत नहीं.

3. महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण योजना (मनरेगा) में काम के दिनों को 100 से बढ़ाकर 150 कर दिया जाएगा.

4. कांग्रेस पार्टी किसानों के लिए अलग से बजट जारी करेगी. कर्ज न चुका पाने पर किसान अपराध के दायरे से बाहर होगें.

5. जीडीपी का 6 फीसदी हिस्सा शिक्षा पर खर्च करने की योजना है. यूनिवर्सिटीज, आईआईटी, आईआईएम समेत टॉप संस्थानों तक गरीबों की पहुंच को आसान करेंगे.

राहुल गांधी ने कांग्रेस के पंजे को जिक्र करते कहा कि हमारे घोषणापत्र में भी पांच आइडियाज शामिल हैं. पहला है- न्याय का थीम. और इसके साथ हमारा एक और नारा है- ‘गरीबी पर वार, 72 हजार’

राहुल गांधी ने घोषणा की कि हम देश के किसानों के लिए अलग से बजट लेकर आएंगे. जैसे रेल के लिए अलग बजट होता था, वैसे ही किसानों के लिए भी अलग से बजट होगा. इससे किसानों को पता चल सकेगा कि उनके लिए कितना खर्च हो रहा है.

‘हम प्रधानमंत्री की तरह झूठ नहीं बोलते’
राहुल गांधी ने कहा कि हम चाहते थे कि हमारे घोषणापत्र में जनता की आवाज हो. इसलिए मैंने कमेटी से कहा कि आम लोगों से बात करना जरूरी है. मेरा कहना साफ था कि इसमें कोई झूठ नहीं होना चाहिए, क्योंकि हम प्रधानमंत्री की तरह झूठ नहीं बोलते हैं.


‘चौकीदार भाग नहीं सकता’
राहुल गांधी का कहना था कि इस चुनाव का नेरेटिव सेट हो चुका है, जो गरीबी और रोजगार पर है. देश का प्रधानमंत्री किसी भी तरह से पीछे नहीं छुप नहीं सकता. चौकीदार छुप सकता है लेकिन भाग नहीं सकता.

‘देश को बांट रही भाजपा सरकार’
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने देश को बांटने का काम किया है. जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं. कांग्रेस देश की सुरक्षा और आतंरिक सुरक्षा पर फोकस करेगी.

पीएम उम्मीदवारी पर ये बोले
इस दौरान राहुल गांधी से प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी को लेकर सवाल किया गया. इस पर उन्होंने कहा कि मैं सिर्फ अपनी बात करता हूं. ये देश के ऊपर है कि वो क्या सोचते हैं.

वायनाड से इसलिए लड़ रहे चुनाव
राहुल गांधी ने वायनाड सीट से चुनाव लड़ने को लेकर भी जवाब दिया. उन्होंने कहा कि दक्षिण भारत में इस तरह की भावना है कि मोदी सरकार की तरफ से उन्हें सरकार में हिस्सेदार नहीं बनाया गया है. मैंने ये तय किया है कि मैं उनका हिस्सा हूं और हम उनके साथ खड़े हैं.