कल होने वाली कांग्रेस CWC मीटिंग में इस्तीफा दे सकते हैं राहुल गांधी

2019 लोकसभा चुनाव में हुई इस हार के बाद शनिवार को कांग्रेस की पहली वर्किंग कमेटी की मीटिंग होने वाली है. सूत्रों का दावा है कि इस बैठक में राहुल गांधी इस्‍तीफे की पेशकश कर सकते हैं.   

नई दिल्‍ली: 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की बुरी हार के बाद कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी इस्‍तीफा दे सकते हैं. कांग्रेस को 2019 लोकसभा चुनाव में सिर्फ 52 सीटों पर जीत मिली है. पार्टी के 9 पूर्व सीएम चुनाव हार गए हैं, खुद राहुल गांधी अमेठी में स्‍मृति ईरानी से हार गए हैं.

23 मई को चुनाव परिणाम घोषित किए जाने के बाद शाम को ऐसी खबर आई थी कि राहुल गांधी ने सोनिया गांधी के सामने इस्‍तीफे की पेशकश की है, लेकिन बाद में इस खबर का खंडन कर दिया गया. पार्टी नेता रणदीप सुरजेवाला ने इस खबर को गलत बता दिया था, लेकिन अब सूत्रों के हवाले से एक बार फिर इस्‍तीफे को लेकर खबर सामने आ रही है, जिसे पीटीआई ने जारी किया है.

2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन कितना बुरा रहा है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसे नेता प्रतिपक्ष का पद मिल पाना भी बेहद मुश्किल लग रहा है. लोकसभा के कुल सदस्यों की संख्या 543 है और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष का पद हासिल करने के लिए कम से कम इसका 10 फीसदी यानि 55 सीटों की जरूरत होती है और कांग्रेस को 52 सीटें मिली हैं. 2014 में भी कांग्रेस को 44 सीटें मिली थीं.

गुरुवार को मीडिया के सामने राहुल गांधी ने कहा, हार की सौ फीसदी जिम्मेदारी मेरी है. उन्होंने कहा कि उनकी लड़ाई विचारधारा की लड़ाई है और कांग्रेस के नेताओं-कार्यकर्ताओं को घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि उनकी पार्टी की विचाराधारा जीतेगी. उन्होंने कहा कि पार्टी की कार्यसमिति की बैठक में जवाबदेही को लेकर चर्चा होगी.

अमेठी में राहुल को स्मृति ईरानी के सामने 55120 वोटों से हार का सामना करना पड़ा. हालांकि, केरल की वायनाड सीट से उन्हें 431770 वोटों से जीत मिली. अमेठी से मिली हार पर राहुल गांधी ने कहा, ‘मैं स्मृति ईरानी को बधाई देता हूं. वहां की जनता ने अपना फैसला दिया है. उम्मीद करता हूं कि वह अमेठी की प्यार से देखभाल करेंगी.’