‘अभी आप अपना जमीर हारे हैं, 8 महीने बाद AAP सत्ता हार जाएंगे’, गंभीर का केजरीवाल पर तंज

पहली बार चुनावी मैदान में BJP के टिकट पर चुनाव लड़ने उतरे पूर्व क्रिकेटर गंभीर ने कांग्रेस के उम्मीदवार अरविंदर सिंह लवली को करीब-करीब 4 लाख वोटों से हराया है.

नई दिल्ली. पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से सांसद चुने गए गौतम गंभीर ने TV9 से बातचीत करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि अभी आप अपना जमीर हारे हैं और 8 महीने में आप सत्ता भी हार जाएंगे. बता दें कि, दिल्ली में विधानसभा चुनाव 2020 में होना है.

पहली बार चुनावी मैदान में BJP के टिकट पर चुनाव लड़ने उतरे पूर्व क्रिकेटर गंभीर ने कांग्रेस के उम्मीदवार अरविंदर सिंह लवली को करीब-करीब 4 लाख वोटों से हराया है. वहीं गंभीर पर आपत्तिजनक पैम्पलेट बटवाने का आरोप लगाने वाली आम आदमी पार्टी (AAP) की उम्मीदवार आतिशी मार्लेना तीसरे नंबर पर रहीं. गंभीर को 55.35% वोट मिले थे. AAP और कांग्रेस के वोट मिला दिए जाएं तो भी वह गंभीर के वोट से कम थे.

TV9 से बात करते हुए गौतम गंभीर ने बड़ी जीत हासिल करने पर कहा कि “मेरे लिए काम करने वाले सभी कार्यकर्ताओं को, उन लोगों को जिन्होंने मेरे लिए काम किया चाहे वो विधायक हों, मंडल अध्यक्ष हों, निगम पार्षद हों सभी को दिल से धन्यवाद कहना चाहूंगा. क्योंकि मुझे नहीं लगता उनकी मेहनत के बिना मैं ये चुनाव जीत पाता. लोगों को विश्वास जताने के लिए धन्यवाद. जल्द ही वदाओं को पूरा करेंगे.”

ये भी पढ़ें: दिल्ली लोकसभा Result 2019: बीजेपी ने फिर किया क्लीन स्वीप

इतनी बड़ी जीत मिलने की उम्मीद पर गंभीर ने कहा कि, “जब आप चुनाव में उतरते हैं तो आप ये नहीं देखते कि आप जीतेंगे या हारेंगे. सच्चाई के साथ उतरते हैं. हमने अपना पूरा कैंपेन सच्चाई के साथ किया. हमने कोई नेगेटिव पॉलिटिक्स नहीं की. हमारे ऊपर खूब आरोप लगे, लेकिन हमने किसी इंडिविजुअल को टारगेट नहीं किया. लोगों ने मेरे ऊपर विश्वास जताया है. अब मेरे पास मौका है उनके लिए कुछ करने का.”

गौतम गंभीर, ‘अभी आप अपना जमीर हारे हैं, 8 महीने बाद AAP सत्ता हार जाएंगे’, गंभीर का केजरीवाल पर तंज
गंभीर ने पूर्वी दिल्ली से BJP के टिकट पर बड़ी जीत दर्ज की है.

सवाल: कौन से वह पहले काम हैं जो गंभीर सांसद के रूप में करना चाहेंगे ?

गंभीर: हमारे विजन डॉक्यूमेंट में बहुत सारे काम हैं. गाजीपुर लैंडफिल एक बड़ा मुद्दा है. ईस्ट दिल्ली में मल्टी स्टोरी पार्किंग बड़ा मुद्दा है. साफ पानी और महिलाओं की सुरक्षा बड़ा मुदा है. जो बेसिक काम है वो बहुत जरुरी है. हम कोई ऐसा दावा नहीं कर रहें कि दिल्ली को लंदन या पैरिस बना देंगे. ईस्ट दिल्ली को दिल्ली की सबसे स्वच्छ क्षेत्र बनाने की कोशिश करेंगे.

सवाल: चुनाव जितने के बाद आपने प्रेस कांफ्रेंस की और सीधे केजरीवाल पर निशाना साधा. आपने कहा था कि जमीर और ईमान हार जाएंगे तो एक दिन सब हार जाएंगे. ऐसा क्यों कहा आपने ?

गंभीर: जिस तरह से उन्होंने मेरे ऊपर आरोप लगाए. मैं सिर्फ 15 दिन पुराना था राजनीति में. उससे पहले भी जिस दिन मैंने नॉमिनेशन पेपर फाइल किए उसी दिन मेरा नॉमिनेशन कैंसिल करने की कोशिश की. FIR की और फिर डबल वोटर आईडी का मुद्दा. वहां तक तो आरोप ठीक थे. लेकिन जो वो बिना किसी सबूत के घिनौना आरोप लगाया कि मैंने पैम्पलेट बटवाए. जब आप इस तरह की राजनीति और इस लेवल पर उतर आते हैं न तब आप अपना जमीर हार जाते हैं. इसीलिए मैंने ये बात कही थी.

सवाल: गंभीर क्या आप मानते हैं कि जो ये कैंपेन गया वो बहुत लो लेवल तक चला गया, ये नहीं जाना चाहिए था यहां तक.

गंभीर: मेरे अलावा 29 और उम्मीदवार मैदान में थे. लेकिन सिर्फ आरोप लगा मुझपर. कांग्रेस, बीएसपी और इतने सारे इंडिपेंडेंट कैंडिडेट लड़ रहे थे और आपने सीधा आरोप मुझपर लगा दिया. बाकी और कैंडिडेट भी थे, लेकिन आरोप सिर्फ मुझपर. अगर आप इस तरह की राजनीति करेंगे तो आपको 8 महीने के अंदर मालूम चल जाएगा. अभी आप अपना जमीर हारे हैं, 8 महीने बाद आप सत्ता हार जाएंगे.”

गौतम गंभीर, ‘अभी आप अपना जमीर हारे हैं, 8 महीने बाद AAP सत्ता हार जाएंगे’, गंभीर का केजरीवाल पर तंज
AAP प्रत्याशी आतिशी ने गौतम पर लगाए थे गंभीर आरोप.

सवाल: क्या यही कारण है कि आतिशी तीसरे नंबर पर रहीं .

गंभीर: वो मुझे नहीं पता. वो जनता बता पाएगी. हमने सच्चाई के साथ चुनाव लड़ा. वही वादे किए जिन्हें हम पूरा कर सकते हैं. लोगों के बीच गए, उनकी समस्याएं सुनी. इसके अलावा हमने कोई झूठे वादे नहीं किए. हमने कोई दिल्ली को लंदन या पैरिस बनाने का वादा नहीं किया. जिन्होंने किया था आज आप साढ़े 4 साल बाद देख रहे हैं कि उन्होंने कितना क्या बदलाव कर दिया है. अभी कुछ समय में वो दिल्ली को न्यूयॉर्क बनाने का भी वाद करेंगे. हम दिल्ली को ऐसी दिल्ली बनाएंगे जहां सब लोग खुशी से रह सकें, महिलाएं सुरक्षित रह सकें, बच्चों को पीने को साफ पानी मिले. साफ हवा में रह सके.

मोदी कैबिनेट में मंत्री पद मिलने पर गंभीर ने कहा कि वो पार्टी का निर्णय है. मेरे पास एक बहुत बड़ा मौका है कि मैं पूर्वी दिल्ली के लोगों के लिए अच्छा काम कर सकूं और लोगों की समस्यायों को दूर कर सकूं.

ये भी पढ़ें: विवादित और बड़बोले बयानों से बचने के लिए पीएम मोदी ने सांसदों को क्या टिप्स दी, पढ़िए

सवाल: मोदी जी ने कल NDA के सांसदों को  ये नसीहत दी की कि दिखास और छपास से बचें. आप इसको कैसे देखते हैं.

गंभीर: बहुत बढ़ियां चीज बोली. इसके अलावा बहुत अच्छी बातें बोली. सबको ये बातें माननी चाहिए. आप राजनीति में लोगों के काम करने के लिए उतारते हैं.

गौतम गंभीर, ‘अभी आप अपना जमीर हारे हैं, 8 महीने बाद AAP सत्ता हार जाएंगे’, गंभीर का केजरीवाल पर तंज
मोदी ने NDA के सांसदों को संबोधित किया.

सवाल: दिल्ली लोकसभा के चुनाव आने वाले हैं, प्रमुख दावेदार किसे मानते हैं. ? कांग्रेस शीला दीक्षित को ले आई है. AAP भी जोर लगा रही है और आप भी कह रहे हैं कि 8 महीने बाद पता चल जाएगा.

गंभीर: BJP की लड़ाई किसी से नहीं है. बल्कि खुद से है. क्योंकि जितना हम बचे हुए समय में काम करेंगे, लोग उसी आधार पर वोट देंगे. सेंटर में BJP है और MCD में भी BJP है, ऐसे में अगर BJP दिल्ली में आ जाए तो काम रुकेंगे नहीं.

सवाल: सेंटर में जैसा एक बड़ा चेहरा मोदी हैं, वैसे ही क्या दिल्ली में BJP को एक बड़े चेहरे की जरुरत है.

गंभीर: हमको मिलकर-जुड़कर चुनाव लड़ने की जरुरत है. झूठे वादे न करें. सही तरीके से काम करें.

सवाल: आपने सवाल खड़े किए थे टीम इंडिया के चयन पर. अब टीम इंडिया प्रैक्टिस मैच हार गई. क्या कहना चाहेंगे इसपर.

गंभीर: प्रैक्टिस मैच को इतना सीरियस नहीं लेना चाहिए. टीम इंडिया के पास ऐसे सभी संसाधन हैं जो उनको विजेता बना सकती है. दोबारा ट्राफी लेके आए टीम इंडिया.