‘महागठबंधन से टिकट की जुगत में थे वरुण गांधी’, कंडे उठाने वाले बयान पर धर्मेंद्र यादव का खुलासा

हाल में ही एक जनसभा में वरुण गांधी ने अखिलेश यादव और पूर्व सीएम मुलायम सिंह पर निशाना साधा था.

लखनऊ: सपा सांसद धर्मेंद्र यादव ने अपनी ट्विटर पोस्ट के जरिए वरुण गांधी की सपा को लेकर की गई बयानबाजी पर पलटवार किया है. धर्मेंद्र यादव ने कहा कि वरुण गांधी महागठबंधन के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते थे.

धर्मेंद्र यादव ने अपने ट्वीट पर लिखा है- “सैफई वाले हाल चलाना भी जानते हैं और हुकूमत चलाना भी जानते हैं. परंतु गांधी जैसे लोग जो हमेशा से दलित, वंचित, पिछड़े, शोषित समाज से दुर्भावना रखते आए हैं, वे सामंत शाही सोच के पक्षधर ही रहेंगे. अभी कुछ दिन पहले तक महागठबंधन से टिकट की जुगत में थे, अब साक्षात हार को देखकर बौखला गए हैं”.

बीते शनिवार को वरुण ने अखिलेश यादव और पूर्व सीएम मुलायम सिंहदोनों के खिलाफ बयानबाजी करते हुए कहा कि “जो लोग 15-20 साल पहले सैफई में गोबर के कंडे उठाते थे, वह आज पांच करोड़ की गाड़ी से चल रहे हैं”.

वरुण बोले कि, “मैं यहां एक मां के लिए वोट मांगने के लिए आया हूं. वो मेरी मां नहीं, बल्कि देश की भारत मां है. आज भारत मां आपसे पूछ रही है कि आप उनके साथ हैं या नहीं. आप उनके साथ हैं जिन्होंने मेरे सीने को चीरने-फाड़ने का काम किया है? या फिर आप नरेंद्र मोदी का साथ देंगे जिसने पाकिस्तान को अपने जूते के नीचे मसल दिया है”.

वरुण गांधी ने ये भी कहा कि, “गठबंधन के लोग तो पाकिस्तान के आदमी हैं, क्या आप इनको जिताएंगे? बताइए रामभक्तों पर गोलियां किसने चलवाईं और 500 लोगों को किसने मारा? इसीलिए इनको श्राप लगा और इनके बेटे ने जूते मारकर निकाल घर से दिया. अब पब्लिक भी उन्हें जूते मारकर बाहर करेगी”.

बता दें कि वरुण गांधी मां मेनका गांधी की पीलीभीत सीट से चुनाव लड़ रहे हैं और मेनका अपने बेटे की सीट सुल्तानपुर से मैदान में उतरी हैं.