“भगवा झंडे पर किसी का एकाधिकार नहीं”, रोड शो में बोले दिग्विजय

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में साधु-संतों की टोली के साथ सड़कों पर उतरे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के रोड शो में कुछ पुलिसकर्मी कंधे पर भगवा गमछा डाले नजर आए थे.
Loksabha Election 2019, “भगवा झंडे पर किसी का एकाधिकार नहीं”, रोड शो में बोले दिग्विजय

भोपाल: बुधवार को साधु-संतों ने पूजा-अर्चना कर पुराने भोपाल में रोड शो शुरू किया. साधु संतों की इस टोली का नेतृत्व कंप्यूटर बाबा कर रहे हैं. इस रोड शो में दिग्विजय सिंह भी साथ में हैं. यह रोड शो पीरगेट सहित भोपाल की संकरी गलियों से होकर गुजरा.

राजधानी की सड़कों पर उतरे साधु-संतों के हाथों में कांग्रेस के झंडे के साथ भगवा झंडा भी था. इस मौके पर संवाददाताओं ने दिग्विजय सिंह से पूछा कि क्या बात है कि कांग्रेस के झंडों के साथ भगवा झंडा भी नजर आया है. इस पर सिंह ने पलटवार करते हुए पूछा, “भगवा झंडे पर किसी का एकाधिकार है क्या?”

साधु-संतों की टोलियां जब भोपाल की सड़कों पर गुजरी तब कई लोगों ने घर-घर मोदी व हर-हर मोदी के नारे लगाए. सड़क किनारें खड़े लोगों ने नारे लगाए तो रोड शो कर रहे साधु-संतों के बीच से भी कई लोग मोदी के नारे लगाने लगे. इस तरह का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ.

Loksabha Election 2019, “भगवा झंडे पर किसी का एकाधिकार नहीं”, रोड शो में बोले दिग्विजय

रोड शो के बाद साधु-संतो की टोली बसों पर सवार होकर गांव की ओर रवाना हो गई. यह साधु-संत कंप्यूटर बाबा के आमंत्रण पर भोपाल आए हैं. कंप्यूटर बाबा का कहना है, “सिंह को जिताने साधु-संत भोपाल आए हैं. इस रोड शो में शामिल होने देश के विभिन्न हिस्सों से साधु संत पहुंचे है.”

बता दें कि भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह और कंप्यूटर बाबा के रोड शो में पुलिसकर्मी सिविल वर्दी में भगवा गमछा पहने नजर आए. एक महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि उन्हें भगवा गमछा पहनने के लिए कहा गया था.

यह पूछे जाने पर कि उन्होंने भगवा गमछा क्यों पहना हुआ था, एक पुलिसकर्मी ने बताया “हम यहां कंप्यूटर बाबा द्वारा आयोजित रोड शो के लिए ड्यूटी पर हैं. हमें गमछा पहनने के लिए कहा गया है.” इसके उलट पुलिस ने दावा किया कि जो लोग भगवा गमछे में दिख रहे थे, वे स्वयंसेवक थे, न कि पुलिस कर्मचारी.

Related Posts