“निराश न हों”, JDU के मंत्रिमंडल में शामिल न होने पर कार्यकर्ताओं से बोले आरसीपी सिंह

गुरुवार को जेडीयू के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने की चर्चा चल रही थी, उसमें सबसे आगे नाम आर सी पी सिंह का था. हालांकि जेडीयू ने बाद में मोदी कैबिनेट में शामिल न होने का निर्णय लिया.

पटना: बिहार में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ सरकार चला रही जनता दल यूनाइटेड के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होने के फैसले के बाद जेडीयू नेता राम चंद्र प्रसाद सिंह ने कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों को निराश नहीं होने की अपील की है.

जेडीयू महासचिव सिंह ने शुक्रवार को अपने फेसबुक वॉल पर बधाई भेजने वाले कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों को बधाई के लिए धन्यवाद देते हुए लिखा, “आपका स्नेह, विश्वास और सहयोग ही मेरा एकमात्र संबल है. पार्टी के कार्यकर्ताओं को मेरे मंत्रिमंडल का हिस्सा नहीं बन पाने के लिए निराश होने की कोई आवश्यकता नहीं है. जीवन एक निरंतर चलते रहने की प्रक्रिया है और भी कई अवसर आते रहेंगे, मंजिलें आती रहेंगी.”

उन्होंने लोगों से अपील करते हुए आगे लिखा, “हमें निराश होने के बजाय और भी अधिक ऊर्जा के साथ पार्टी और संगठन को मजबूत करना है और पार्टी को पूरी मजबूती के साथ अपनी सेवाएं देते हुए नए मुकाम पर पहुंचाना है.”

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को जेडीयू के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने की चर्चा चल रही थी, उसमें सबसे आगे नाम आर सी पी सिंह का था. पार्टी कार्यकर्ताओं ने उन्हें बधाई भी देनी शुरू कर दी थी.

बाद में हालांकि शपथ ग्रहण समारोह के पहले जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने पार्टी के मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होने की घोषणा करते हुए कहा था कि मोदी नीत मंत्रालय में शामिल होने के लिए भाजपा की पेशकश ‘प्रतीकात्मक प्रतिनिधित्व’ है. जो जेडीयू को स्वीकार नहीं. लेकिन, उन्होंने दोहराया कि उनकी पार्टी एनडीए का हिस्सा बनी रहेगी.

ये भी पढ़ें- मोदी सरकार 2.0: इन मंत्रियों के पास रहेंगे सबसे ज्‍यादा मंत्रालय