जब लक्षद्वीप में छुट्टियां मनाने गए थे राजीव गांधी, विमान से पहुंचाया गया रसोइया-पानी-जनरेटर

पीएम मोदी ने हाल ही में आरोप लगाया था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने विमान वाहक पोत आईएनएस विराट का इस्तेमाल निजी छुट्टियां मनाने के लिए किया.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को आरोप लगाया था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने विमान वाहक पोत आईएनएस विराट का इस्तेमाल निजी छुट्टियां मनाने के लिए किया था. मोदी ने कहा था कि ‘किसने रक्षा बलों के साथ निजी संपत्ति जैसा व्यवहार किया है? क्या आपने कभी सुना है कि कोई परिवार छुट्टी मनाने के लिए युद्धपोत से गया हो? ऐसा हमारे देश में हुआ है. नामदार परिवार ने आईएनएस विराट का इस्तेमाल निजी संपत्ति की तरह से किया था.’

हालांकि, कांग्रेस ने गुरुवार को पीएम मोदी के इस आरोप को खारिज कर दिया था और कहा था कि आईएनएस विराट का इस्तेमाल छुट्टियों के लिए नहीं बल्कि आधिकारिक उद्देश्य के लिए किया. इस बीच अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस ने उस दौरान अखबार में छपी अपनी रिपोर्टों को लेकर इस पर एक खबर प्रकाशित की है. इसमें राजीव गांधी की साल 1987 में अंडमान में छुट्टियों को लेकर विस्तार से जानकारी दी गई है.

16 दिसंबर 1987 को छपी रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री राजीव गांधी इस साल लक्षद्वीप के बैरन द्वीप पर अपनी छुट्टियां बिताएंगे. क्रिसमस के बाद वो यहां पर एक हफ्ते का समय गुजारने वाले हैं. इसके लिए सुरक्षाबलों, कॉन्ट्रैक्टर्स और कांग्रेस (आई) के नेताओं को कार्यक्रम की तैयारियों में लगा दिया गया है.

फिलहाल इंजीनियर्स और मजदूर हैलीपैड्स और आधुनिक सुविधाओं से सम्पन्न रहने के अस्थायी ठिकाने बनाने में लगे हुए हैं. इसके लिए सभी जरूरी चीजों को करीब 200 से 400 किलोमीटर की दूरी से लाना पड़ता है.

नारियल पानी और मछली को छोड़कर अन्य सभी चीजें हवाई जहाज के जरिए लाई जाएंगीं. इनमें रसोइया, पानी, जेनरेटर्स के साथ ही हर समय मौजूद रहने वाले सुरक्षाकर्मी और अटेंडेंट्स शामिल हैं.

30 दिसंबर, 1987 को छपी एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया है कि पीएम राजीव ने जिस द्वीप को चुना है वो यहां का ऐसा यह ऐसा इकलौता द्वीप है जहां पर शराब पीने की इजाजत है. जबकि, अन्य मुस्लिम बहुल द्वीपों पर शराब पीने पर सख्ती से प्रतिबंध लगाया गया है.

Read Also: ‘INS Viraat पर मौजूद था, पर हम छुट्टियां बिताने नहीं गए थे’, PM मोदी के आरोपों पर बोले राहुल गांधी