pulwama attack, दिग्विजय सिंह के बाद अब इस पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा आतंकी हमले पर खड़े किए सवाल
pulwama attack, दिग्विजय सिंह के बाद अब इस पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा आतंकी हमले पर खड़े किए सवाल

दिग्विजय सिंह के बाद अब इस पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा आतंकी हमले पर खड़े किए सवाल

'अगर मोदी चाहते हैं कि 42 शहीदों को मारकर 42 लोगों की हत्या करके, वह उनकी चिताओं की राख से अपना राजतिलक करें तो जनता उन्हें ऐसा नहीं करने देगी.'
pulwama attack, दिग्विजय सिंह के बाद अब इस पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा आतंकी हमले पर खड़े किए सवाल

नई दिल्ली: पुलवामा आतंकी हमले के लगभग दो महीने बीत जाने के बाद भी लोकसभा चुनाव 2019 की वजह से ये मामला अब तक राजनीतिक गलियारों में घूम रहा है. कभी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) बालाकोट एयरस्ट्राइक की बात छेड़कर सेना का शौर्य दिखाते हुए पीएम मोदी की तारीफ करती है तो कभी कांग्रेस एयरस्ट्राइक में मरने वाले आतंकियों की संख्या पूछकर मोदी सरकार पर सवाल खड़े करती है. ताज़ा मामला पुलवामा आतंकी हमले को लेकर है.

उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और मिजोरम के पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस नेता अजीज कुरैशी ने दावा किया है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुआ हमला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक साजिश थी. अजीज कुरैशी ने कहा कि पुलवामा प्लान पीएम मोदी ने करवाया ताकी फिर से राजनीति में आने का मौका मिल सके, जनता सब समझती है.

उन्होंने कहा, ‘अगर मोदी चाहते हैं कि 42 शहीदों को मारकर 42 लोगों की हत्या करके, वह उनकी चिताओं की राख से अपना राजतिलक करें तो जनता उन्हें ऐसा नहीं करने देगी.’

अजीज कुरैशी ने दावा किया कि कांग्रेस मध्य प्रदेश में 20 से ज्यादा लोकसभा सीटें जीतेगी. बीजेपी पर हमला करते हुए अजीज कुरैशी ने कहा, ‘यहां बीजेपी नेताओं ने कारखाने बंद करा दिए हैं. बीजेपी ने नौजवानों को तबाह किया है. बीजेपी में नपुंसक लोगों ने अपने ही क्षेत्र के कारखाने बंद करा दिए. इन्हें वोट मांगने का क्या हक है.’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह भी उठा चुके हैं सवाल

गौरतलब है कि इससे पहले कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी पुलवामा हमले को ‘दुर्घटना’ करार दिया था. विदेशी मीडिया का हवाला देते हुए दिग्विजय सिंह ने वायुसेना की एयर स्ट्राइक पर संदेह जताते हुए कहा कि भारत सरकार की विश्वसनीयता पर भी प्रश्न चिह्न लग रहा है. हमें हमारी सेना और उनकी बहादुरी पर गर्व है.

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘हमें हमारी सेना और उनकी बहादुरी पर गर्व है व सम्पूर्ण विश्वास है. सेना में मैंने अपने कई परिचित व नजदीकी रिश्तेदारों को देखा है कि वे किस प्रकार अपने परिवारों को छोड़कर हमारी सुरक्षा करते हैं. हम उनका सम्मान करते हैं.’

वहीं दूसरे ट्वीट में दिग्विजय ने पुलवामा आतंकी हमले को दुर्घटना बताते हुए लिखा, ‘किन्तु पुलवामा दुर्घटना के बाद हमारी वायु सेना द्वारा की गई Air Strike के बाद कुछ विदेशी मीडिया में संदेह पैदा किया जा रहा है. इससे हमारी भारत सरकार की विश्वसनीयता पर भी प्रश्न चिन्ह लग रहा है.’

इतना ही नहीं उन्होंने मुकदमा दायर करने की भी चुनौती दी थी. उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘मेरे जिस ट्वीट पर आप व आपके मंत्रीगण मुझे पाकिस्तान समर्थक मानते हैं, देशद्रोही मानते हैं. वह मैंने दिल्ली से किया था, जहां की पुलिस केंद्र सरकार के अंतर्गत आती है. अगर आप में साहस है तो मेरे ऊपर मुकदमा दायर करें.’

क्या है मामला?

बता दें कि 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला हुआ ता जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे. बाद में पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली थी. इस घटना के 12 दिन बाद यानी कि 26 फरवरी को भारत ने बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर आतंकी ठिकानों को काफी नुकसान पहुंचाने का दावा किया.

pulwama attack, दिग्विजय सिंह के बाद अब इस पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा आतंकी हमले पर खड़े किए सवाल
pulwama attack, दिग्विजय सिंह के बाद अब इस पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा आतंकी हमले पर खड़े किए सवाल

Related Posts

pulwama attack, दिग्विजय सिंह के बाद अब इस पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा आतंकी हमले पर खड़े किए सवाल
pulwama attack, दिग्विजय सिंह के बाद अब इस पूर्व राज्यपाल ने पुलवामा आतंकी हमले पर खड़े किए सवाल