ऑटो चालक के पास डेढ़ करोड़ का आलीशान विला, आयकर विभाग ने मारा छापा

आयकर विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि 37 साल के ऑटो ड्राइवर पर लोकसभा चुनावों के मद्देनजर मध्य अप्रैल से कड़ी निगरानी रखी जा रही थी.

बेंगलुरु: इनकम टैक्स विभाग बेंगलुरु में रहने वाले एक ऑटो ड्राइवर की आय के स्रोतों के बारे में जानकारी जुटा रहा है. ये ऑटो ड्राइवर व्हाइटफील्ड हाई सोसाइटी में 1.6 करोड़ रुपये के विला में रहता है. ड्राइवर का नाम नल्लूरल्ली सुब्रामनी है.

ऑटो ड्राइवर से जब इस बारे में पूछताछ की गई तो उसने बताया कि ये विला उसको किसी यात्री ने उपहार में दिया था. आयकर विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि 37 साल के ऑटो ड्राइवर पर लोकसभा चुनावों के मद्देनजर मध्य अप्रैल से कड़ी निगरानी रखी जा रही थी.

चुनाव आयोग रखे हैं पैनी नजर
अधिकारी ने कहा, हमने उन स्रोतों को शॉर्टलिस्ट किया है जहां से चुनाव के दौरान बेहिसाब धन आ सकता है. जैसे ही यह मामला हम तक पहुंचा हमने निर्णय लिया कि महादेवपुर के जट्टी द्वाराकमई में स्थित व्हाइटफील्ड उसकी संपत्ति की छानबीन की.

नोटिस किया गया जारी
ऑनलाइन मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार अधिकारी ने कहा कि जांच चल रही है और बेनामी संपत्ति लेनदेन अधिनियम, 1988 के अंतर्गत एक नोटिस जारी किया गया है. कॉलोनी के डेवलपर से जानकारी जुटाई जा रही है जिसमें 15 विला शामिल हैं. उन्होंने कहा, ‘हालांकि संपत्ति के कागज दिखाते हैं कि यह बेनामी संपत्ति नहीं है क्योंकि उसके पास सभी प्रमाण मौजूद हैं.’

ये भी पढ़ें- ‘मैं संजय गांधी का बेटा हूं, ऐसे लोगों से मैं जूते के फीते खुलवाता हूं’,सुल्तानपुर में बोले वरुण गांधी

इस कहानी में दिलचस्प मोड़
हालांकि ऑटो ड्राइवर नल्लूरल्ली सुब्रामणि की इस कहानी में एक दिलचस्प मोड़ भी है. जब आयकर अधिकारियों ने इस विला का सोर्स पूछा तो एक और नई बात सामने आई. सुब्रामणि ने दावा किया है कि महिला की चैरिटी ही उसकी संपत्ति का सोर्स है. इसके साथ ही बात यह भी निकल कर सामने आ रही है कि नेता अपने अवैध धन को उसके पास रखते हैं, जिससे उसने प्रॉपर्टी तैयार कर ली.

इस तरह से किया था भुगतान
मैनेजिंग डायरेक्टर लक्ष्मी जेटी ने बताया, ‘ सुब्रामणि 2013 में एक अमेरिकी महिला के साथ अपने ऑटो में आया और विला को किराए पर लेने की बात की. उसे 30 हजार रुपये मासिक के रेंट पर विला को किराए पर दे दिया. 2015 में ऑटो ड्राइवर ने विला को खरीदने में दिलचस्पी दिखाई और 1.6 करोड़ रुपये की राशि को 10-10 लाख रुपये के 16 चेक के जरिए भुगतान किया.’

ये भी पढ़ें-‘मैं बिहार का दूसरा लालू हूं, वे हमारे आइडल हैं’- रैली में बोले तेज प्रताप यादव

इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ते हैं बच्चे
विला में लग्जरी लाइफ जी रहे सुब्रामणि की एक बेटी और एक बेटा है, जो वाइटफील्ड की एक इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ाई करते हैं. पड़ोसियों का कहना है कि सुब्रामणि अक्सर पार्टी का आयोजन करता रहता है और कई लोकल नेता भी घर पर आते-जाते रहते हैं. हालांकि उसे कभी काम करते जाते नहीं देखा.

सुब्रामणि का जवाब
वहीं, सुब्रामणि ने घर पर इनकम टैक्स की छापेमारी पर कहा, ‘कम्युनिटी के मालिक मुझे परेशान करने के लिए छापेमारी करवा रहे हैं. मुझ सहित कुछ अन्य विला मालिकों का सिविल विवाद चल रहा है. यह प्रॉपर्टी उस अमेरिकन महिला की देन है, जो यहां की जीई कंपनी में काम करती और मेरी ही ऑटो में सफर करती थी. उसने चैरिटी दी, जिससे मैं विला खरीद सका.’