श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट में सामने आया तौहीद जमात का नाम, IS से कनेक्शन की जांच शुरू

श्रीलंका में में हुए सीरियल बम धमाकों में नेशनल तौहीद जमात का भी नाम आ रहा है. सीरियल बम धमाकों में अब तक 321 लोगों के मौत की खबर है जबकि 500 लोग घायल बताए जा रहे हैं.

कोलंबो: श्रीलंका में हुए सीरियल ब्लास्ट की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट आतंकी संगठन ने ले ली है, लेकिन इसमें कई परते और खुल सकती हैं. पहले भी कई ऐसे आतंकी हमलों की जिम्मेदारी आईएसआईएस ले चुका है लेकिन श्रीलंका में में हुए सीरियल बम धमाकों में नेशनल तौहीद जमात का भी नाम आ रहा है. सीरियल बम धमाकों में अब तक 321 लोगों के मौत की खबर है जबकि 500 लोग घायल बताए जा रहे हैं.

श्रीलंका में हुए इस भीषण आतंकी हमले में आईएसआईएस का नाम आया है. इस आतंकी संगठन ने इसकी जिम्मेदारी ली है. इस बारे में पहले अटकलें लगाई जा रही थी कि जिस आतंकी संगठन नेशनल तौहीद जमात का नाम इस हमले में आ रहा है उसमें काफी ऐसे लोग हैं जो श्रीलंका से आईएसआईएस को ज्वाइन करने के लिए इराक सीरिया गए भी थे और बाद में लौटे भी हैं. माना जाता है कि श्रीलंका से करीब 150 ऐसे लोग हैं जो आईएसआईएस के लिए लड़ने के लिए यहां से गए थे.

श्रीलंका की सुरक्षा एजेंसिया इस हमले की पूरी जांच करने में जुटी हुई हैं. इस्लामिक स्टेट के जिम्मेदारी लेने के बाद भी वो जांच हर एंगल से कर रही हैं. पूरी दुनिया में इस आतंकी घटने की निंदा की जा रही है.

कट्टरपंथी इस्लामी संगठन
नेशनल तौहीद जमात श्रीलंका का एक चरमपंथी इस्लामिक संगठन है. इसे तौहीद-ए-जमात के नाम से भी जाना जाता है. इस संगठन पर श्रीलंका में वहाबी विचारधारा को बढ़ाने का आरोप है. इस संगठन का प्रभाव श्रीलंका के पूर्वी प्रांत में ज्यादा देखा गया है. यह संगठन देश के कई हिस्सों में महिलाओं के लिए बुर्का और मस्जिदों के निर्माण के साथ शरीया कानून को आगे बढ़ाने में लगा है.

कब आया था इसका नाम
इस संगठन का नाम पहली बार 2013 में सामने आया था. श्रीलंका के तत्कालीन रक्षा मंत्री ने इस संगठन को लेकर चिंता जताई थी. उस दौरान खुफिया एजेंसियों ने इस संगठन के आईएसआईएस से तार जुड़े होने की बात कही थी. आईएसआईएस से प्रभावित लोगों के इस संगठन से जुड़े होने की बात भी सामने आई थी. इन हमलों में इस संगठन पर सबसे ज्यादा शक होने का भी यही कारण है.