लोकसभा चुनाव 2019: पांचवें चरण में सात राज्यों की 51 सीटों पर आज होगा मतदान

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण का मतदान राजनाथ सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी समेत कई सियासी महारथियों का राजनीतिक भाग्य तय करेगा.

नई दिल्ली: पांचवें चरण में सात राज्यों की 51 सीटों पर लोकसभा चुनाव सोमवार को होने हैं. इनमें उत्तरप्रदेश की राय बरेली और अमेठी सीट पर मुकाबला देखने लायक होगा. जिन सीटों पर सोमवार को मतदान होने हैं उनमें उत्तर प्रदेश से 14, राजस्थान से 12, मध्यप्रदेश और पश्चिम बंगाल की सात-सात, बिहार की पांच, झारखंड की चार और जम्मू एवं कश्मीर की दो सीटें जिसमें अनंतनाग भी शामिल है जहां तीसरे और अंतिम चरण का चुनाव होना है.

पिछली बार BJP ने मारी थी बाजी

वर्ष 2014 के चुनावों में इन 51 सीटों में से 39 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जीत हासिल की थी. राजस्थान में 12, उत्तरप्रदेश की 14 सीटों में से 12, मध्य प्रदेश में पूरी सात, बिहार में पांच में से तीन, झारखंड में सभी चारों और जम्मू एवं कश्मीर की दो में से एक सीट जीती थी. कांग्रेस ने केवल अमेठी और रायबरेली में जीत का स्वाद चखा था.

VIP सीटों पर होगी टक्कर

इस चरण में बहुत सी दिग्गज सीटों पर मुकाबला है. उत्तरप्रदेश में कांग्रेस का गढ़ रही अमेठी और रायबरेली सीटों पर कांग्रेस-भाजपा में टक्कर देखने को मिलेगी. रायबरेली से संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी मैदान में हैं जिन्होंने 2004 में यह सीट जीती थी. उनका मुकाबला पूर्व कांग्रेसी नेता और अभी के भाजपा उम्मीदवार दिनेश प्रताप सिंह से है.

राहुल गांधी समेत कई दिग्गजों की किस्मत EVM में होगी कैद

अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का सामना करेंगे. इसी सूची में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह (लखनऊ), जयंत सिन्हा(हजारीबाग) और राज्यवर्धन सिंह राठौर (जयपुर) मैदान में हैं. पांचवें चरण के चुनाव में केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह (लखनऊ), कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (अमेठी), यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी (रायबरेली), केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (अमेठी), पूर्व केन्द्रीय मंत्री जितिन प्रसाद (धौरहरा) और पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल खत्री (फैजाबाद) जैसे छत्रपों की प्रतिष्ठा दांव पर है.

सपा-बसपा गठबंधन देगा कड़ी टक्कर

पांचवें चरण के मतदान में उत्तर प्रदेश में बहुत सी सीटें वही है जहां वर्ष 2014 में भाजपा ने जीत दर्ज की थी लेकिन इस बार उन्हें समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) से कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद है. बिहार में वर्ष 2014 के चुनावों से लेकर अब स्थिति बदल चुकी है. पिछले समय जनता दल-यूनाइटेड(जदयू) भाजपा के खिलाफ मैदान में था लेकिन इस बार जदयू और भाजपा साथ में चुनाव लड़ रहे हैं. इन्हें राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस और दूसरी पार्टियों से कड़ी चुनौती मिलने की उम्मीद है. वहीं बसपा प्रमुख मायावती कल लखनऊ में 7:30 बजे लखनऊ मोंटेसरी स्कूल में मतदान करेंगी.

इस चरण में दो करोड़ 50 लाख 68 हजार 296 मतदाता कुल 182 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला कर सकेंगे. मतदान के लिये 16126 मतदान केन्द्र और 28100 मतदेय स्थल बनाये गये हैं। एसपी-बीएसपी-आरएलडी गठबंधन ने अमेठी और रायबरेली सीटों पर अपने प्रत्याशी नहीं उतारे हैं.

 BJP नेता यहां डालेंगे वोट

रजौरी सेक्टर में बंद रहेंगे स्कूल

एहतियाती के रूप में और छात्रों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जम्मू-कश्मीर के जिला राजौरी के केरी सेक्टर में LoC से 0-5 किलोमीटर की दूरी के भीतर 10+2 के स्तर तक के सभी सरकारी और निजी स्कूल कल बंद रहेंगे.

EC ने समय से पहले वोटिंग कराने से किया इनकार

सुप्रीम कोर्ट में मोहम्मद पाशा ने याचिका दायर की थी कि रोज़े को देखते हुए समय से पहले चुनाव कराने की मांग की थी लेकिन समय से पहले वोटिंग कराने से चुनाव आयोग ने इनकार करते हुए कहा कि मतदान का समय 7:00 बजे निर्धारित है और उसे 5:00 बजे नहीं किया जा सकता.

यह भी पढ़ें, सिब्बल की भविष्यवाणी: कांग्रेस को नहीं मिलेगा बहुमत, BJP के हाथ आएंगी इतनी सीटें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *