ममता-प्रियंका को सुषमा स्वराज का जवाब, दुश्मनी जम कर करो लेकिन ये गुंजाइश रहे…

सुषमा स्वराज ने एक के बाद एक लगातार दो ट्वीट किए. सुषमा ने शायरान अंदाज में ममता बनर्जी को आड़े हाथों लिया तो वहीं प्रियंका गांधी को मनमोहन सिंह सरकार की याद दिलाई
सुषमा स्वराज, ममता-प्रियंका को सुषमा स्वराज का जवाब, दुश्मनी जम कर करो लेकिन ये गुंजाइश रहे…

नई दिल्ली: फोनी के फोन से मचा तूफान अब ट्विटर वार तक पहुंच चुका है. बीजेपी की वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को अलग-अलग ट्वीट कर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी पर निशाना साधा.

सुषमा स्वराज ने एक के बाद एक लगातार दो ट्वीट किए. सुषमा ने शायरान अंदाज में ममता बनर्जी को आड़े हाथों लिया तो वहीं प्रियंका गांधी को मनमोहन सिंह सरकार की याद दिलाई और कहा कि राहुल गांधी ने कैसे अध्यादेश फाड़ कर फेंका था.

अहंकारी कौन?
सुषमा स्वराज ने लिखा, ‘प्रियंका जी, आज आपने अहंकार की बात की. मैं आपको याद दिला दूं कि अहंकार की पराकाष्ठा तो उस दिन हुई थी जिस दिन राहुल जी ने अपने ही प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह जी का अपमान करते हुए राष्ट्रपति द्वारा जारी अध्यादेश को फाड़ कर फेंका था. कौन किसको सुना रहा है?’

सुषमा को याद आए बशीर बद्र साहब
अपने दूसरे ट्वीट में सुषमा स्वराज ने ममता बनर्जी को जवाब दिया और लिखा, ‘ममता जी, आज आपने सारी हदें पार कर दीं. आप प्रदेश की मुख्यमंत्री हैं और मोदी जी देश के प्रधानमंत्री हैं. कल आपको उन्हीं से बात करनी है. इसलिए बशीर बद्र का एक शेर याद दिला रही हूं: दुश्मनी जम कर करो लेकिन ये गुंजाइश रहे, जब कभी हम दोस्त हो जाएं तो शर्मिंदा न हों.’

ये भी पढ़ें-VIDEO: ऑटो में सवार हुईं प्रियंका गांधी, रोड शो में दिखा अनोखा अंदाज

प्रियंका का फायरब्रांड अवतार
सुषमा स्वराज का ट्वीट प्रियंका के उस बयान के बाद आया जो उन्होंने मंगलवार को हरियाणा के अंबाला रैली के दौरान दिया था. प्रियंका ने कहा था, “मोदी, दुर्योधन की तरह अहंकारी हैं.” प्रियंका ने यह हमला मोदी की ओर से उनके पिता राजीव गांधी को ‘भ्रष्टाचारी नंबर 1’ कहे जाने पर किया था. प्रियंका गांधी ने कहा, देश ने अहंकार को कभी माफ नहीं किया, ऐसा अहंकार दुर्योधन में भी था. जब भगवान कृष्ण उन्हें समझाने गए तो उनको भी दुर्योधन ने बंधक बनाने की कोशिश की. दिनकर जी की पंक्तियां हैं-जब नाश मनुज पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है.

ये भी पढ़ें-“23 मई को पता लगेगा अर्जुन कौन है” प्रियंका के दुर्योधन वाले बयान पर अमित शाह का जवाब

ममता बनर्जी का लोकतांत्रिक थप्पड़
उधर ममता बनर्जी ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला और कहा कि उनका पीएम मोदी को लोकतांत्रिक थप्पड़ मारने का मन करता है. ममता ने कहा, ‘मैंने ऐसा झूठा प्रधानमंत्री नहीं देखा. जब चुनाव आते हैं तो राम नाम जपने लगते हैं. मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए ममता बनर्जी ने कहा, ”5 साल पहले उन्होंने अच्छे दिनों की बात की थी, लेकिन बाद में नोटबंदी कर दी. वह संविधान भी बदल देंगे.” ममता ने कहा, ”मैं बीजेपी के नारों में विश्वास नहीं रखती. पैसा मेरे लिए कोई मायने नहीं रखता लेकिन जब नरेंद्र मोदी बंगाल आकर कहते हैं कि टीएमसी लुटेरों से भरी पड़ी है तो मुझे उन्हें थप्पड़ मारने का मन हुआ.”

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव भी हुए शामिल
इस ट्विटर वार पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव भी कूद पड़े. तेजस्वी ने ट्वीट किया, ‘आदरणीय सुषमा जी, कभी माननीय प्रधानमंत्री जी की बदज़ुबानी पर ट्वीट करिए। उम्मीद करता हूँ आप उनकी सभी Below the belt बातों को सुन और देख रही होंगी. आप उनसे कहीं अधिक वरिष्ठ, ज्ञानी, व्यवहारिक और अनुभवी है फिर भी सब सच्चाई जानते हुए चुप है और उल्टा @MamataOfficial जी को बोल रही है.’

विवाद की जड़
ये सारा विवाद फोनी तूफान के बाद से मचा. फोनी तूफान के बाद बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि पीएम मोदी ने उनको फोन नहीं किया और न ही प्रदेश की हालत का जायजा लिया. जिसके बाद पीएमओ की ओर से इस आरोपों को नकार दिया गया था. पीएम मोदी ने बंगाल की रैली के दौरान इस बात का जिक्र किया और ममता पर वार किया था. पीएम मोदी ने ये भी कहा था कि हमने ममता बनर्जी के साथ मीटिंग रखने की बात भी कही थी लेकिन सीएम कार्यालय ने मना कर दिया. जिसके बाद ममता बनर्जी ने मोदी पर पलटवार करते हुए कहा था कि ये लोग सिर से पैर तक खून से सने हुए हैं मैं इनके साथ मंच साझा नहीं कर सकती.

Related Posts