VIDEO: प्रज्ञा ठाकुर ने मांगी माफी, बाबरी मस्जिद तोड़ने का किया था दावा

प्रज्ञा ठाकुर को बीजेपी ने जब से लोकसभा चुनाव के लिए अपना प्रत्याशी घोषित किया है तब से वो अपने बयानों को लेकर विवादों में हैं.


नई दिल्ली: बाबरी मस्जिद मामले को लेकर प्रज्ञा ठाकुर ने चुनाव आयोग को पुनर्विचार के लिए याचिका भेजी है. उन्होंने पत्र में लिखा- मैं बिना शर्त माफी नामा दे रही हूं. मैं विश्वास दिलाती हूं, भविष्य में ऐसा कृत्य नहीं करूंगी जिससे चुनाव आयोग के नियमों का उल्लघंन हो. मैं पहले भी खेद प्रकट कर चुकी हूं.

प्रज्ञा ठाकुर ने चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि वो 72 घंटे के प्रतिबंध को 12 घंटे कर दें.

अपने माफीनामे में प्रज्ञा ने कहा है- बाबरी मस्जिद के संबंध में मैने ऐसा कोई कथन नहीं दिया जिसके कारण भोपाल या मध्यप्रदेश में न तो शांति भंग हुई और न ही साम्प्रदायिक वैमनस्य कायम हुआ. पुलिस ने भी इस संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी को कोई रिपोर्ट नहीं भेजी.

Pragya Thakur, VIDEO: प्रज्ञा ठाकुर ने मांगी माफी, बाबरी मस्जिद तोड़ने का किया था दावाPragya Thakur, VIDEO: प्रज्ञा ठाकुर ने मांगी माफी, बाबरी मस्जिद तोड़ने का किया था दावाPragya Thakur, VIDEO: प्रज्ञा ठाकुर ने मांगी माफी, बाबरी मस्जिद तोड़ने का किया था दावा

जाहिर है कि चुनाव ने आयोग ने प्रज्ञा ठाकुर पर 72 घंटे का बैन लगाया है. चुनाव आयोग ने प्रज्ञा को समझाइश दी है कि वो ऐसा दोबारा न करें. प्रज्ञा ठाकुर ने आचार संहिता का उल्लंघन किया है. चुनाव आयोग ने बैन के मामले में कहा है कि अगर इसके बाद भी प्रज्ञा ठाकुर नहीं मानी तो इससे भी कड़ा कदम उठाया जा सकता है.

बैन के आदेश पर साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बयान दिया है कि अभी चुनाव आयोग का पत्र हाथ में नहीं आया है. चुनाव आयोग का सम्मान करती हूं. जो भी आदेश होगा हमारी लीगल टीम उसे देख रही है. भोपाल का हर व्यक्ति प्रज्ञा ठाकुर बनकर प्रचार करेगा.

बता दें राम मंदिर पर दिए बयान की वजह से प्रज्ञा पर कार्रवाई की गई है. TV9 भारतवर्ष से बातचीत के दौरान ठाकुर ने कहा कि उन्होंने बाबरी ढांचे पे चढ़कर उसे तोड़ा था. उन्होंने बातचीत में कहा, ‘हमने देश का कलंक मिटाया था हम ढांचा तोड़ने गए थे. मुझे भयंकर गर्व है ईश्वर ने मुझे अवसर दिया था, शक्ति दी थी और मैंने ये काम कर दिया. अब वहीं राम मंदिर बनाएंगे.’