Today Election RoundUp: ब्लैक बॉक्स से मचा हडकंप, पीएम मोदी ने पाकिस्तान को चेताया

देशभर में चुनावी संग्राम मचा हुआ है. इसी बीच पढ़िए सियासत से जुड़ी एक दिन की हर बड़ी खबर...

नई दिल्ली: 2019 लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान हो चुका है. वहीं सियासत भी अपने चरम पर है. कांग्रेस ने एक वीडियो पोस्ट करते हुए ब्लैक बॉक्स पर जवाब मांगा है. वहीं पीएम मोदी ने अलग-अलग रैलियों में विपक्ष पर करारा हमला बोला है. इसके अलावा पढ़िए रविवार की सभी बड़ी चुनावी खबरें…

1- मुरादाबाद में बोले पीएम मोदी, मैं गालीप्रूफ हूं, अखिलेश यादव के ‘टाइल्स-टोटी’ पर भी तंज
मुरादाबाद रैली में पीएम मोदी ने समाजवादी पार्टी (एसपी) अध्यक्ष अखिलेश यादव के टाइल्स और टोटी वाले मामले पर भी तंज कसा. उन्होंने कहा, ‘इनकी (एसपी-बीएसपी) सोच एक ही है, वन पॉइंट एजेंडा, सुबह-शाम यहां जाओ-वहां जाओ, मोदी को गाली दो, जोर-जोर से गाली दो. जैसे कांग्रेस वाले मुझे कहते हैं, यह मोदी तो शौचालय का सौदागर है.

2- EVM पर विपक्ष का वार, सुप्रीम कोर्ट जाने को हैं तैयार
हले चरण की वोटिंग के बाद विपक्षी दलों ने EVM का मुद्दा फिर से उठाया है. दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में विपक्ष ने ईवीएम और चुनाव से संबंधित मुद्दों को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की. कॉन्फ्रेंस में अन्य विपक्षी दल भी शामिल हुए. कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने EVM पर सवाल खड़े करते हुए आरोप लगाया कि चुनाव आयोग इस पर ठीक से ध्यान नहीं दे रहा. ईवीएम पर सवाल उठाते हुए बैलट पेपर से वोटिंग की वकालत की. उधर, बीजेपी ने विपक्ष की इस कॉन्फ्रेंस को हार स्वीकार करने वाला बताया है.


3- इस लड़के को राजनीति में लाने के लिए मायावती ने किया बड़ा ऐलान
उत्‍तर प्रदेश के बदायूं में महागठबंधन की रैली के दौरान मायावती ने आखिरकार अपनी जुबान से असली बबुआ का जिक्र किया. इनका नाम है- आकाश, जो काफी समय से मायावती की हर रैली में मंच पर नजर आ रहे थे. इनके बारे में मीडिया में लगातार कयासबाजी चल रही थी, लेकिन शनिवार को बदायूं में मायावती ने आकाश के बारे में बड़ा ऐलान कर दिया. मायावती ने कहा, ‘मेरे भाई का लड़का आकाश यहां बैठा है, मैंने फैसला कर लिया है, इस लड़के को राजनीति में जरूर लाना चाहिए.’

4- कर्नाटक चुनाव आयोग के ब्रांड एंबेसडर राहुल द्रविड़ नहीं डाल पाएंगे वोट, वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप
डोम्लूर सब डिवीजन के सहायक निर्वाचन रिटर्निंग अधिकारी बासावराजू मागी ने इस बात की पुष्टि की है कि द्रविड़ के भाई विजय ने राहुल और उनकी पत्नी का नाम वोटर लिस्ट से हटवाने के लिए फॉर्म जमा किया था. मागी ने कहा, ‘नाम हटवाने के बाद राहुल द्रविड़ ने नाम दोबारा शामिल करवाने के लिए फॉर्म 6 नहीं भरा था. अगर उन्होंने फॉर्म 6 भरा होता तो उनका नाम वोटर लिस्ट में होता.’

5- बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा पर आजम खान ने दिया विवादित बयान
जया प्रदा का नाम लिए बगैर आजम ने जनसभा में मौजूद लोगों से पूछा, ‘क्या राजनीति इतनी गिर जाएगी कि 10 साल जिसने रामपुर वालों का खून पिया, जिसे उंगली पकड़कर हम रामपुर में लेकर आए, उसने हमारे ऊपर क्या-क्या इल्जाम नहीं लगाए. क्या आप उसे वोट देंगे?’ आजम ने आगे कहा कि आपने 10 साल जिनसे अपना प्रतिनिधित्व कराया, उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का अंडरवेअर खाकी रंग का है.

6- केशव प्रसाद मौर्य बोले, एसपी, बीएसपी और आरएलडी का गठबंधन पूरी तरह बेमेल
केशव ने एसपी, बीएसपी और आरएलडी के गठबंधन को पूरी तरह से बेमेल गठबंधन करार दिया. बीएसपी सुप्रीमो मायावती की देवबंद में हुई रैली में आरएलडी अध्यक्ष चौधरी अजीत सिंह को जूता उतारकर मंच पर चढ़ने देने को लेकर केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मायावती दलितों का सम्मान नहीं करती हैं तो किसी दूसरे का सम्मान कैसे करेंगी.

7- अब खास कोड के जरिए मेनका गांधी ने दी वोटरों को धमकी, ABCD का किया जिक्र
केंद्रीय मंत्री और सुल्तानपुर से BJP की उम्मीदवार मेनका गांधी ने एक बार फिर वोटरों को धमकी दी है. उन्होंने कहा है कि पीलीभीत में जब वह सांसद थी तो उन्होंने वोट देने वालों का क्राइटेरिया तय कर रखा था. उन्होंने कहा कि जिस गांव से 80, 60 और 50 फीसदी वोट मिलते हैं वहीं पर वे क्रम से काम करती हैं. 80फीसदी वोट जहां से मिलते हैं उसे A कैटेगरी, 60 फीसदी को B कैटेगरी में, 50 फीसदी को C कैटेगरी में रखते हैं.

8- मायावती के फैसले से अखिलेश यादव को एक ही दिन में लगे ये दो बड़े झटके
2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी को टक्‍कर देने के लिए बनाए गए एसपी-बीएसपी-आरएलडी महागठबंधन में सबकुद ठीक नहीं चल रहा है. रविवार को बसपा ने 16 उम्‍मीदवारों के नामों की लिस्‍ट जारी की, जिसमें जौनपुर सीट भी शामिल है. मायावती के इस कदम से अखिलेश यादव की मुसीबत बढ़ गई है.

9- कर्नाटक के एक युवा ने मोदी को वोट देने के लिए ऑस्ट्रेलिया में अच्छी जॉब छोड़ दी
सुनकर हैरानी जरूर होती है, लेकिन यह वाक्या पूरी तरह सच है. मैंगलुरु के एक व्यक्ति ने सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वोट देने के लिए ऑस्ट्रेलिया में अपनी लगी-लगाई अच्छी जॉब छोड़ दी है. 41 साल के सुधिंद्रा हेब्बार सिडनी एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग ऑफिसर के पद पर तैनात थे.