TMC-BJP आमने-सामने, कोलकाता से लेकर दिल्ली के जंतर मंतर तक आज प्रदर्शन

भाजपा नेता पीयूष गोयल ने कहा, "चुनाव आयोग बंगाल की हिंसा पर मूकदर्शक बन गया है. ममता सरकार नहीं चाहती कि बंगाल में निष्पक्ष चुनाव हों."

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो पर मंगलवार को कथित रूप से तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद (टीएमसीपी) के कार्यकर्ताओं ने पत्थर फेंके. इसके बाद कॉलेज स्ट्रीट के पास हिंसा भड़क उठी, जिसमें तीन बाइकों को आग के हवाले कर दिया गया.

टीएमसीपी कार्यकर्ता कलकत्ता विश्वविद्यालय के गेट पर काले झंडों के साथ जमा थे. जैसे ही रोडशो वहां से गुजरा, उन्होंने अमित शाह के खिलाफ नारे लगाए और काले झंडे दिखाए. आरोप है कि उन्होंने रोडशो पर ईंट व पत्थर फेंके. भाजपा समर्थकों ने भी कथित रूप से विश्वविद्यालय छात्रों पर ईंटें फेंकी.

जंतर मंतर पर BJP का प्रदर्शन
इस बीच, मामले की गूंज कोलकाता से करीब 1500 किमी दूर दिल्ली तक सुनाई दे रही है. बीजेपी आज यानी बुधवार को दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन करने जा रही है. इसके साथ ही बीजेपी नेता कोलकाता में भी टीएमसी के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे.

CM ममता ने देर रात किया दौरा
वहीं, ममता बनर्जी भी टीएमसी कार्यकर्ताओं के साथ बुधवार को विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़े जाने के खिलाफ विरोध रैली करने जा रही हैं. ममता मूर्ति टूटने के बाद मंगलवार रात को विद्यासागर कॉलेज पहुंचीं.

उन्होंने यहां पर अपने हाथ से मूर्ति के टुकड़े उठाए. साथ ही TMC ने मूर्ति तोड़े जाने को लेकर BJP के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है. ममता बनर्जी ने बेहाला की जनसभा में कहा कि मूर्ति तोड़े जाने का जवाब BJP के खिलाफ डला एक-एक वोट होगा.

ममता ने इस दौरान संवाददाताओं से कहा कि अमित शाह खुद को क्या समझते हैं? क्या वह सबसे ऊपर हैं? क्या वह भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता?

BJP ने की प्रेस कॉन्फ्रेस
भाजपा ने रोड शो के दौरान हुई हिंसा को लेकर मंगलवार रात को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. पार्टी नेता पीयूष गोयल ने रैली में हुई हिंसा की निंदा की. उन्होंने बंगाल की जनता से ज्यादा से ज्यादा वोट करने की अपील की है.

पीयूष ने कहा, “चुनाव आयोग बंगाल की हिंसा पर मूकदर्शक बन गया है. ममता सरकार नहीं चाहती कि बंगाल में निष्पक्ष चुनाव हों. इलेक्शन कमीशन को इस मामले में सख्त कदम उठाने चाहिए. बंगाल सरकार कार्रवाई करने की बजाए उल्टा बीजेपी को दोष दे रही है.”

अमित शाह की प्रतिक्रिया
अमित शाह ने बाद में तृणमूल पर अपनी रैली में ईंट व पत्थर फेंकने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, “मेरी रैली के दौरान दो जगहों पर अशांति पैदा की गई. तृणमूल के समर्थकों ने हिंसा भड़काने का प्रयास किया और हम पर ईंट व पत्थर फेंके.”

Read Also: अमित शाह की रैली में हिंसक झड़प के बाद BJP नेताओं ने CM ममता पर साधा निशाना