ममता बनर्जी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को अपना PM मानती है: मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "देश को पता है कि मोदी हटाओ का नारा तो बहाना था. असल में इन्हें अपने भ्रष्टाचार के पाप को छुपाना था. ये लोग जैसे-तैसे कोशिश कर रहे थे कि देश में खिचड़ी सरकार बन जाए."

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा बंगाल की मुख्यमंत्री मुझे अपना प्रधानमंत्री नहीं मानती हैं. वो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को अपना प्रधानमंत्री मानती हैं.

मोदी ने मऊ में एक चुनावी रैली में कहा, “मोदी हटाओ का जो राग अलाप रहे थे, वो आज बौखला गए हैं. हर दिन विरोधियों की गालियां बढती जा रही हैं. बंगाल की मुख्यमंत्री मुझे प्रधानमंत्री नहीं मानती हैं. वो पाकिस्तान के पीएम को अपना प्रधानमंत्री मानती हैं. आज मैं बंगाल जा रहा हूं तो देश को बताऊंगा कि मिदनापुर में जो मेरी रैली थी तो वहां किस तरह की अराजकता फैलाई गई.”

मोदी ने कहा, “कूच बिहार में जहां मंच बन रहा था, वहीं दीदी ने अपनी पार्टी का मंच बना दिया. यह लोकतंत्र विरोधी कार्य है. मैं बहुत दिन से देख रहा हूं, देश भी देख रहा है. देखते हैं दीदी रैली होने देती हैं या नहीं. उनका बस चले तो हेलिकॉप्टर न उतरने दे. परसों कोलकाता में अमित शाह की रैली में ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी.”

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा, “ईश्वर चंद्र भारत की महान विभूति हैं. वह गरीबों और दलितों के संरक्षक भी थे. उन्होंने मानवता की सेवा के लिए जो किया उसके हम कर्जदार हैं.”

सपा-बसपा का जाति के आधार पर अवसरवादी गठबंधन

उन्होंने कहा, “उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा ने जाति के आधार पर एक अवसरवादी गठबंधन करने की कोशिश की. इनके बीच में लखनऊ में एसी कमरे में बैठकर तो डील हो गई, लेकिन जमीन से कटे हुए नेता यहां पर अपने कार्यकतरओ को ही भूल गए.”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “देश को पता है कि मोदी हटाओ का नारा तो बहाना था. असल में इन्हें अपने भ्रष्टाचार के पाप को छुपाना था. ये लोग जैसे-तैसे कोशिश कर रहे थे कि देश में खिचड़ी सरकार बन जाए.”

मोदी ने कहा, “सपा-बसपा कार्यकर्ता आज भी एक दूसरे पर हमला कर रहे हैं. सपा-बसपा ने सोचा था कि एक दूसरे को वोट ट्रांसफर होगा. उन्होंने कुछ जातियों को अपना गुलाम समझ लिया था. अब 2019 में इन्हें ठीक से समझ में आएगा कि जातियां इनकी गुलाम नहीं हैं. इन लोगों ने जाति के नाम पर सिर्फ सत्ता हासिल की और इसका उपयोग अपने लिए बंगले बनाने और रिश्तेदारों को करोड़पति-अरबपति बनाने में किया.”

मोदी ने कहा, “सपा-बसपा ने यहां से ऐसे उम्मीदवार को टिकट दिया है, जो बलात्कार का अरोपी है, भगोड़ा है. सपा का तो यह इतिहास रहा है, मगर बहन जी ऐसे लोगों के लिए वोट मांग रही हैं.”

प्रधानमंत्री पद की बात आती है तो सब अपनी डफली बजाने लगते हैं

मऊ में जनसभा करने के बाद प्रधानमंत्री चंदौली आए. यहां प्रधानमंत्री ने कहा, “जैसे ही प्रधानमंत्री पद की बात आई तो सब अपने-अपने दावे लेकर अपनी-अपनी डफली बजाने लगे. 8 सीट वाले, 10 सीट वाले, 20 सीट वाले हो या 30-35 सीट वाले हो, ये सभी प्रधानमंत्री बनने के सपना देखने लगे. लेकिन देश ने कहा- फिर एक बार मोदी सरकार.”

उन्होंने कहा, “उत्तरप्रदेश में सपा सरकार में बेटियों की क्या स्थिति थी, सब जानते हैं. बहन जी का बर्ताव भी सवालों के घेरे में है. राजस्थान के अलवर में दलित बेटी संग गैंगरेप हुआ, वहां बहन जी के सहयोग से कांग्रेस की सरकार चल रही है. राज्य में अपराध छिपाने की कोशिश हुई. लेकिन वह कांग्रेस से समर्थन वापसी के बजाए मोदी को ही गाली दे रही हैं.”

मोदी ने कहा, “सबका साथ, सबका विकास ये हमारा मंत्र है और सबको सुरक्षा और सबको सम्मान ये हमारा प्रण है. हम छोटे किसानों के बैंक खातों में सीधी मदद कर रहे हैं. 23 मई के बाद जब फिर एक बार मोदी सरकार बनेगी तब उत्तरप्रदेश के हर किसान परिवार को ये मदद मिलना शुरू हो जाएगी.”

ये भी पढ़ें: ‘नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे’, BJP प्रत्‍याशी प्रज्ञा ठाकुर का बयान