“मोदी कहीं हमें भी अपने पति से अलग न करवा दे, घबराती हैं BJP नेताओं की पत्नियां”

मायावती ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर पीएम नरेंद्र मोदी पर निजी हमले किए.

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. उन्‍होंने कहा कि ‘विवाहित औरतें अपने पतियों के मोदी के साथ रहने से परेशान होती हैं, कि कहीं वो भी मोदी की तरह अपनी पत्नी को न छोड़ दें.’ मायावती ने पीएम मोदी पर निजी हमला करते हुए कहा, “BJP में विवाहित औरतें अपने पतियों को मोदी के नजदीक जाते देखकर घबराती रहती हैं कि कहीं ये मोदी अपनी औरत की तरह हमें भी अपने पतियों से अलग न करवा दें. पूरे देश की महिलाओं से मेरा ये खास अनुरोध है कि वे इस किस्‍म के व्‍यक्ति को अपना वोट कतई न दें.”

चुनाव प्रचार के दौरान जाति का जिक्र करने को लेकर मायावती ने कहा, “पीएम नरेंद्र मोदी इस बार चुनाव में अपनी खराब हालत को देखते हुए आए-दिन अपनी जाति बदलते रहते हैं. पिछले दो-तीन से तो वे अपनी जाति ‘गरीब’ ही बता रहे हैं, जिनकी गरीबी को दूर करने की इनको अभी तक रत्‍ती भर भी चिंता नहीं रही है. यदि इनको (मोदी) गरीब लोगों की थोड़ी सी भी चिंता होती तो फिर ये अपने 2014 के चुनावी वादे को जरूर पूरा करते जिसमें उन्‍होंने अपनी सरकार बनने पर देश के हर गरीब व्‍यक्ति को 15-20 लाख रुपये देने की बात कही थी.”

‘खुद को गरीब बताने का नाटक कर रहे मोदी’

प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में मायावती ने कहा, “नरेंद्र मोदी न तो गरीब हैं, न ही फकीर हैं. गरीबों के वोटों के स्‍वार्थ में अब वे अपने को गरीब बताने का कोरा नाटक कर रहे हैं.” उन्‍होंने कहा, “ये (मोदी) भी कहते रहे हं कि मैं अति पिछड़ी जाति का हूं, जबकि सच्‍चाई यह है कि कि वे वास्‍तव में जन्‍मजात अति पिछड़े वर्ग से नहीं हैं. गुजरात में अपनी सरकार के चलते हुए जैसे-तैसे जुगाड़ करके अपनी अगड़ी जाति को पिछड़े वर्ग की सूची में शामिल करवा लिया था.”

अलवर गैंगरेप कांड पर मायावती ने कहा, “नरेंद्र मोदी अलवर गैंगरेप मामले पर पहले चुप थे. अब वह इस पर गंदी राजनीति खेलने की कोशिश कर रहे हैं ताकि चुनाव में उनकी पार्टी को फायदा हो सके. यह बेहद शर्मनाक है.” गौरतलब है कि पीएम मोदी ने एक चुनावी रैली में रविवार को मायावती का जिक्र कर कहा था कि ‘अगर आप बेटियों की रक्षा के प्रति इतनी ही ईमानदार हैं तो आज ही, इसी समय राजस्थान की कांग्रेस सरकार से समर्थन वापस ले लीजिए.’

ये भी पढ़ें

‘मायावती ने अलवर गैंगरेप के बाद राजस्थान सरकार से क्यों वापस नहीं लिया समर्थन’

‘अगर सब ठीक रहा तो…’ पोस्‍टर में अपने लिए प्रधानमंत्री लिखा देख खुश हुईं मायावती