मायावती ने क्यों कहा, अब चायवाले को कोई नहीं पूछता?

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में जो 'चायवाला' राजनीति की गलियों में चर्चा का विषय बना हुए था, 2019 आते-आते अचानक चर्चा से गायब हो गया है. बीएसपी प्रमुख मायावती ने चायवाले की अनदेखी पर सवाल खडे़ किए हैं.

नई दिल्ली: पिछले लोकसभा चुनाव में ख़ुद को ‘चायवाला’ के रूप में प्रचारित करने वाले पीएम मोदी इस बार ‘चौकीदार’ बन गए हैं. ये कहना है बीएसपी प्रमुख मायावती का. बीजेपी द्वारा चलाए जा रहे ‘मैं भी चौकीदार’ कैंपेन पर प्रहार करते हुए अपने ट्विटर अकांउट पर लिखा, ‘जब से ‘मैं भी चौकीदार’ कैंपेन शुरू हुआ, पीएम मोदी और अन्य नेताओं ने ट्विटर पर अपने नाम से पहले ‘चौकीदार’ जोड़ लिया. यानी कि मोदी अब ‘चायवाला’ नहीं रहे, वो ‘चौकीदार’ हो गए हैं. बीजेपी के नेतृत्व में भारत सचमुच बदल रहा है. शानदार!’

इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि चुनाव के दौरान पीएम मोदी चायवाला बन जाते हैं जबकि चुनाव के बाद राफेलवाला.

वहीं मायावती ने मंगलवार को सवाल खड़े करते हुए पूछा, सादा जीवन उच्च विचार के विपरीत शाही अन्दाज में जीने वाले जिस व्यक्ति ने पिछले लोकसभा आमचुनाव के समय वोट की खातिर अपने आपको चायवाला बोलके प्रचारित किया था, वे अब इस चुनाव में वोट के लिये ही बड़े तामझाम व शान के साथ अपने आपको चोकीदार chowkidar घोषित कर रहे हैं. देश वाकई बदल रहा है?

मायावती ने यह हमला ऐसे वक्त में किया है जब बीजेपी ने अपनी ‘मैं भी चौकीदार’ मुहिम तेज कर दी है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह समेत पार्टी के अन्य नेताओं ने अपने ट्विटर प्रोफाइल पर अपने नाम के आगे ‘चौकीदार’ शब्द जोड़ा है.

इसके अलावा बीजेपी नेताओं ने छोटे विज्ञापन वीडियो भी अपने अकाउंट से साझा किए जिनमें यह दिखाया गया है कि विभिन्न क्षेत्रों के लोग किस प्रकार मोदी की तरह देश के लिए अपना योगदान देकर ‘चौकीदार’ बन रहे हैं. इन नेताओं में कई केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री भी शामिल हैं.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अपने समर्थकों से अपील की कि वे ‘मैं भी चौकीदार’ का संकल्प लें.

उन्होंने कहा कि वह भ्रष्टाचार और सामाजिक बुराइयों के खिलाफ लड़ाई में अकेले नहीं हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘आपका चौकीदार मजबूती से खड़ा है और देश की सेवा कर रहा है, लेकिन मैं अकेला नहीं हूं. भ्रष्टाचार, गंदगी, सामाजिक बुराई के खिलाफ लड़ने वाला हर व्यक्ति चौकीदार है. भारत के विकास के लिए कड़ी मेहनत करने वाला हर व्यक्ति चौकीदार है. आज हर भारतीय कह रहा है ‘मैं भी चौकीदार’.’

उन्होंने अपना संदेश लोगों तक पहुंचाने के लिए तीन मिनट से अधिक समय का वीडियो भी पोस्ट किया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राफेल लड़ाकू विमान समझौते में कथित अनियमितताओं को लेकर मोदी पर बार-बार निशाना साधकर कहते रहे हैं, ‘चौकीदार चोर है.’

वहीं मोदी अकसर स्वयं को ऐसा ‘चौकीदार’ बताते आए हैं जो भ्रष्टाचार को अनुमति नहीं देगा और न ही स्वयं भ्रष्टाचार करेगा.

ज़ाहिर है साल 2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी अपने परिवार और चाय बेचने की कहानी बताया करते थे. पीएम बनने के बाद भी कई जनसभाओं के दौरान उन्होंने ख़ुद को चायवाला कहकर संबोधित किया है. ये अलग बात है कि इस बार के चुनाव में अब तक यह शब्द दोबारा सुनने को नहीं मिला है.