100 से भी ज्यादा क्रॉस बॉर्डर स्ट्राइक हुई थीं, जब मैं सेना में था: कैप्टन अमरिंदर सिंह

अमरिंदर सिंह ने कहा, "1947 में कौन पीएम था? 1962 में कौन पीएम था? इसी तरह, 1965 और 1971 में कौन पीएम था? हमने पाकिस्तान का बंटवारा किया. इंदिरा गांधी ने ऐसा किया था, लेकिन उन्होंने कभी नहीं कहा कि 'मैंने यह किया."

नई दिल्ली: बीजेपी के 2016 से पहले पाकिस्तान में सीमा पार आतंकवादियों पर सर्जिकल स्ट्राइक न होने के दावे को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है. कैप्टन अमरिंदर का कहना है कि पीएम मोदी को इतिहास पढ़ने की जरूरत है.

एक न्यूज चैनल से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘बीजेपी को इतिहास की समझ नहीं है. जो कोई भी सैन्य इतिहास से वाकिफ है, वह जानता है कि पहले भी कई बार स्ट्राइक हो चुकी हैं. जब मैं 1964 से 1967 तक पश्चिमी कमान में था, मुझे लगता है कि 100 स्ट्राइक उस दरमियान की गई होंगी.’

कैप्टन अमरिंदर ने आगे कहा, ‘उन्होंने (बीजेपी ने) अभी-अभी एक नया नाम ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ दिया है. हम इसे क्रॉस बॉर्डर रैड कहते थे. मालूम हो कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह कई वर्षों पहले सेना में सेवा दे चुके हैं. कैप्टन अमरिंदर 1960 के दशक में सेना की सिख रेजीमेंट में तैनात थे.

एयर स्ट्राइक का पूरा श्रेय वायु सेना और विंग कमांडर अभिनंदन को

अमरिंदर सिंह ने कहा, “1947 में कौन पीएम था? 1962 में कौन पीएम था? इसी तरह, 1965 और 1971 में कौन पीएम था? हमने पाकिस्तान का बंटवारा किया. इंदिरा गांधी ने ऐसा किया था, लेकिन उन्होंने कभी नहीं कहा कि ‘मैंने यह किया.”

कैप्टन ने आगे कहा, “उन्होंने (इंदिरा गांधी ने) कहा कि वह भारतीय सशस्त्र बलों और फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ के प्रति बहुत आभारी हैं. उन्होंने दूसरों को श्रेय दिया, लेकिन यहां यह आदमी कह रहा है कि ‘मैंने यह किया है.’ आप कौन हैं भाई? यह आपकी सेना नहीं है, यह भारतीय सेना है.” कैप्टन अमरिंदर सिंह ने फरवरी में हुई एयर स्ट्राइक में एक पाकिस्तानी फाइटर जेट को मार गिराने के लिए वायु सेना और विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को पूरा श्रेय दिया.

पंजाब के मुख्यमंत्री ने यह भी सवाल किया कि सरकार पाकिस्तान में आतंकवादी समूह जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को नष्ट करने वाली एयर स्ट्राइक के पूरे प्रकरण और उसके प्रभाव को साझा क्यों नहीं कर रही है.

राष्ट्रवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा, बीजेपी के चुनावी मुद्दे

बीजेपी ने इन चुनावों में राष्ट्रवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा के विषय को अपने चुनावी अभियान का हिस्सा बनाया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के अन्य नेता भी अपनी रैलियों में साल 2016 में की गई सर्जिकल स्ट्राइक और पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले के बाद की गई एयर स्ट्राइक का जिक्र लगातार करते रहे हैं. हालांकि बीजेपी यूपीए शासन के दौरान की गई स्ट्राइक्स के दावे को झूठा बताते रहे हैं.

हालांकि रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा, जिन्होंने 2016 के सर्जिकल स्ट्राइक का नेतृत्व किया था, ने हाल ही में कहा था कि भारतीय सेना ने कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूपीए के शासन के दौरान भी पाकिस्तान की सीमा पर सर्जिकल स्ट्राइक किए थे. कांग्रेस ने भी दावा किया था कि 2004 और 2014 के बीच छह बार क्रॉस बॉर्डर स्ट्राइ की थी, लेकिन मनमोहन सरकार ने कभी इस मामले को सार्वजनिक नहीं किया.

ये भी पढ़ें: तेज बहादुर की आखिरी उम्मीद खत्म, नहीं लड़ पाएंगे PM मोदी के खिलाफ चुनाव