चुनाव आयोग ने ओडिशा के CM नवीन पटनायक पर साधा निशाना

बीते मंगलवार को चुनाव आयोग ने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के हेलीकॉप्टर की तलाशी ली है.

नई दिल्ली: 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान लगभग सभी नेता एक-दूसरे को ट्रोल करने के चक्कर में हैं. वोट पाने के लिए पार्टियां तमाम कोशिशें कर रही हैं. पार्टियों की ऊलजलूल हरकतों को देखते हुए चुनाव आयोग के मिजाज काफी सख्त नजर आ रहे हैं. यही नहीं नेताओं की हवाई यात्रा भी चुनाव आयोग के फ्लाइंग दस्तों की निगरानी में हैं. बीजू जनता दल के अध्यक्ष नवीन पटनायक भी चुनाव आयोग के चंगुल में फंस चुके हैं.

मंगलवार को राउरकेला में चुनाव आयोग के फ्लाईंग दस्ते ने ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक के हेलीकॉप्टर की तलाशी ली है. नवीन पटनायक ने फ्लाईंग दस्ते को जांच के लिए पूरा सपोर्ट किया और प्रक्रिया पूरी होने तक वह हेलीकॉप्टर के अंदर ही बैठे रहे.

मुख्यमंत्री पटनायक राउरकेल में एक रोड शो के लिए निकले थे. जैसे ही उनका हेलीकॉप्टर लैंड हुआ, चुनाव आयोग के फ्लाईंग दस्ते ने सीएम से हेलीकॉप्टर के अंदर रखे सामान की तलाशी लेने की मांग की.

चुनाव आयोग के अधिकारियों के मुताबिक फ्लाईंग दस्ता आजकल जांच के काम में लगा हुआ है और इस काम का मकसद किसी से पर्सनल मतलब भुनाना नहीं है. इससे पहले चुनाव आयोग के फ्लाइंग दस्ते ने केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान और येदियुरप्पा के हेलीकॉप्टर की भी चेकिंग की थी.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनावों को लेकर चुनाव आयोग काफी सक्रिय हो चुका है. जिसके चलते बजरंगबली और मुस्लिमों को ऊपर की गई टिप्पणी के मामले में योगी आदित्यनाथ और मायावती पर चुनाव आयोग ने बैन लगा दिया है. इसके अलावा मेनका गांधी और आजम खान पर भी बैन लगाया जा चुका है.
चुनाव आयोग की तरफ से दिख रही इस सख्ती की वजह से उम्मीद है कि चुनाव के दूसरे चरण में पार्टियां संतुलित व्यवहार करेंगी.

ये भी पढ़ें – पीएम मोदी के हेलिकॅाप्टर की तलाशी लेने वाले अधिकारी को चुनाव आयोग ने किया निलंबित