‘ऑपरेशन भारतवर्ष’ में बेनकाब हुए रामदास तड़स के खिलाफ एक्‍शन में चुनाव आयोग

रामदास तड़स 2014 लोकसभा चुनाव में वर्धा से जीते थे और 2019 में भी उन्‍हें इसी सीट से टिकट मिला है.
operation bharatvarsh impact, ‘ऑपरेशन भारतवर्ष’ में बेनकाब हुए रामदास तड़स के खिलाफ एक्‍शन में चुनाव आयोग

मुबई:‘ऑपरेशन भारतवर्ष’ में वर्धा से बीजेपी सांसद रामदास तड़स के बारे में खुलासा किए जाने के बाद चुनाव आयोग एक्‍शन में आया है. टीवी9भारतवर्ष के स्टिंग ऑपरेशन के बाद
जिला निर्वाचन अधिकारी को जांच के आदेश दिए गए हैं. वह जांच करने के बाद महाराष्‍ट्र चुनाव आयोग को रिपोर्ट सौंपेंगे.

‘ऑपरेशन भारतवर्ष’ में बीजेपी के इस सांसद ने खुद माना कि पिछले चुनाव में उन्‍होंने 10 करोड़ रुपए फूंक दिए. पार्टी ने 2019 में एक बार फिर इन्हें वर्धा से चुनावी मैदान में उतारने का फैसला कर लिया है और इस बार वह 25 करोड़ रुपए चुनाव में खर्च करने जा रहे हैं.

यहां सबसे अहम बात यह है कि चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव में प्रत्‍येक उम्‍मीदवार के लिए चुनावी खर्च की जो अधिकतम सीमा तय की है, वह 70 लाख है.

टीवी9भारतवर्ष की इन्‍वेस्टिगेशन टीम ने जब एक फर्जी कंपनी की मदद के एवज में चुनावी खर्च में मदद की पेशकश की तो सांसद महोदय 8 करोड़ कैश लेने के लिए तैयार हो गए. 2014 में महाराष्ट्र के वर्धा से जीते इस सांसद ने न सिर्फ साफतौर पर चेक से पैसे लेने से मना कर दिया, बल्कि कैश के बदले संसद में फर्जी कंपनी के फायदे के लिए हर सवाल उठाने को भी राजी हो गए.

इतना ही नहीं, बीजेपी के इस सांसद ने नोट की डिलिवरी दिल्ली में अपने सरकारी बंगले पर करने को कहा. इसके अलावा पैसे पहुंचाने के लिए सांसद महोदय पार्लियामेंट स्टिकर वाली कार तक मुहैया कराने को तैयार हो गए.

ये भी पढ़ें-#OperationBharatvarsh ने खोली BJP सांसद रामदास की पोल, कैश में मांगे करोड़ों

ये भी पढ़ें- Operation Bharatvarsh: SP नेता ने कहा- गाड़ी से लेकर साड़ी तक, सब पर होते हैं करोड़ों खर्च

ये भी पढ़ें- तेजस्वी के दुलारे सरफराज आलम ने क्यों लालू को दी गालियां, किसे दी गोली मारने की धमकी?

यह भी पढ़ें- लालू को ही गाली देता है उनका सांसद, चुनाव में कराता है शराब की होम डिलीवरी

Related Posts