Video:पीएम मोदी की चंडीगढ़ रैली से पहले ‘मोदीजी के पकोड़े’ बेचकर किया विरोध

ग्रेजुएशन की ड्रेस पहने एक महिला ने तंज कसते हुए कहा, "मोदीजी ने अपनी अनोखी पकोड़ा रोजगार योजना के माध्यम से हमें नई नौकरियां दी हैं. यही कारण है कि हम पकौड़े के साथ अपनी खुशी दिखाने आए हैं."

चंडीगढ़: चंडीगढ़ में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी रैली के दौरान आयोजन स्थल पर कुछ सामाजिक कार्यकर्ता बेरोजगार ग्रेजुएट लोगों के कपड़े पहनकर इकट्ठे हुए और उन्होंने पकौड़े बेचना शुरू कर दिया. उनका कहना था कि यह “मोदीजी के पकौड़े” हैं. हालांकि, प्रदर्शनकारी अपने साथ लाए पकौड़ों को बेचने में कामयाब नहीं हो सके. कार्यक्रम शुरू होने से पहले ही सभा स्थल पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने उन्हें भगा दिया.

दरअसल पिछले साल की शुरुआत में एक साक्षात्कार में पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू में रोजगार के मसले पर विवादास्पद बयान देते हुए कहा था “अगर पकौड़ा बेचने वाला व्यक्ति दिन के अंत में 200 रुपये कमाता है, तो क्या इसे रोजगार माना जाएगा या नहीं?” उनके इसी बयान के विरोध में उन लोगों ने पकौड़े बेचकर सांकेतिक विरोध प्रदर्शन किया.

घटना का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें कार्यकर्ता पकौड़े बेचते हुए कह रहे हैं कि “मोदी जी के पकौड़े खाइए.” ग्रेजुएशन की ड्रेस पहने हुए एक महिला ने तंज कसते हुए कहा, “मोदीजी ने अपनी अनोखी पकोड़ा रोजगार योजना के माध्यम से हमें नई नौकरियां दी हैं. यही कारण है कि हम पकौड़े के साथ अपनी प्रशंसा दिखाने आए हैं. आखिरकार, हमारे शिक्षित युवाओं के लिए जीवन यापन करने के लिए इससे बेहतर कोई तरीका नहीं है.”

मालूम हो कि पीएम मोदी द्वारा पकौड़े बेचने को लेकर उनकी कई विपक्षी दलों ने कड़ी आलोचना की थी. विपक्षी दलों ने इस बयान को आधार बताते हुए कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार देश की बेरोजगारी की समस्या को दूर करने के लिए गंभीर नहीं है.

ये भी पढ़ें: हुंकार के बाद जब बंगाल की सड़कों पर राम-हनुमान संग उतरे अमित शाह, तब मचा कोहराम