शपथ ग्रहण से पहले जब अरुण जेटली से मिलने उनके घर पहुंचे नरेंद्र मोदी

जेटली ने PM मोदी को चिट्ठी में लिखा है कि वे सरकार या पार्टी के समर्थन में अनौपचारिक रूप से काम करने के लिए उपलब्धब रहेंगे.

नई दिल्ली: हाल ही में पीएम मोदी ने बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली से उनके घर पर मुलाकात की. मुलाकात का ये दौर करीब 20 मिनट से ऊपर रहा. अंदाजा लगाया जा रहा है कि ये मुलाकात जेटली द्वारा पत्र लिखकर केंद्र सरकार में उन्हें कोई जिम्मेदारी न दिए जाने के अनुरोध के विषय पर हुई है.

बता दें कि वरिष्‍ठ भाजपा नेता और एनडीए सरकार के पहले कार्यकाल में वित्‍त मंत्री रहे अरुण जेटली ने नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है. जेटली ने पत्र में कहा है कि खराब सेहत के चलते वह अगली सरकार को समय नहीं दे पाएंगे, इसलिए उन्‍हें कोई जिम्‍मेदारी न दी जाए.

pm-modi-meet-arun-jaitley, शपथ ग्रहण से पहले जब अरुण जेटली से मिलने उनके घर पहुंचे नरेंद्र मोदी

मोदी गुरुवार शाम 7 बजे राष्‍ट्रपति भवन में शपथ लेंगे. जेटली ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि वे सरकार या पार्टी के समर्थन में अनौपचारिक रूप से काम करने के लिए उपलब्‍ध रहेंगे.

मोदी केा लिखे अपने पत्र में जेटली ने कहा कि “पिछले 18 महीनों से मैं कुछ गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से जूझ रहा हूं. मेरे डॉक्‍टर्स ने अधिकतर बीमारियां ठीक कर दी हैं. जब प्रचार खत्‍म हो गया था और आप केदारनाथ के लिए निकल रहे थे तो मैंने आपको मौखिक रूप से बताया था कि प्रचार के दौरान मुझे दी गई जिम्‍मेदारियां निभाने में तो मैं सफल रहा, मगर भविष्‍य में कुछ समय के लिए जिम्‍मेदारी से बचना चाहूंगा. इससे मुझे अपने स्‍वास्‍थ्‍य और इलाज पर ध्‍यान देने में मदद मिलेगी.”

जेटली इस साल जनवरी में इलाज के लिए अमेरिका के न्‍यूयॉर्क गए थे. इस दौरान पीयूष गोयल को वित्‍त मंत्रालय का अतिरिक्‍त कार्यभार सौंपा गया था. जेटली की 14 मई, 2018 को गुर्दे की प्रत्यारोपण सर्जरी हुई थी. उनकी अनुपस्थिति में गोयल को 14 मई से 22 अगस्त 2018 के बीच भी वित्त मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया था.