‘हम पर जो बुरी नजर डालेगा उस पर उतनी ही शक्ति से वार किया जाएगा’, बिहार में बोले PM मोदी

बिहार के चंपारण में NDA की विजय संकल्प सभा को संबोधित करने पहुंचे PM नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला.
पीएम मोदी, ‘हम पर जो बुरी नजर डालेगा उस पर उतनी ही शक्ति से वार किया जाएगा’, बिहार में बोले PM मोदी

नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों (Loksabha Election) के पांचवें चरण के मतदान से ठीक एक दिन पहले PM नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) शनिवार को बिहार के चंपारण में NDA की विजय संकल्प सभा को संबोधित करने पहुंचे. इस रैली के दौरान पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर जमकर हमला बोला. आइए जानते हैं पीएम मोदी की रैली की कुछ बड़ी बातें –

  • पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत लोगों का अभिवादन करते हुए किया, उन्होंने कहा – चंपारण में अनेक बार आने का मुझे अवसर मिला है, हर बार मुझे आपसे असीम प्यार मिला है. आपके इस प्यार और सत्कार को मैं शीश झुकाकर नमन करता हूं.
  • बिहार की महान धरती के महान लोगों ने अन्याय और अत्याचार के खिलाफ हमेशा देश को दिशा दी है. भारत की चेतना को नई ऊर्जा दी है, शक्ति दी है. मैं गर्व के साथ कह सकता हूं कि देश में स्वच्छता के प्रति जनआंदोलन के लिए भी चंपारण और बिहार की धरती ने राह दिखाई है.
  • मुझे ख़ुशी होती है कि पद्मश्री भागीरथी देवी जैसी बहनें भारत को प्रेरणादायी नेतृत्व देने का काम कर रही है.
  • 4 चरण के मतदान के बाद, सारे महामिलावटी दलों के झूठे दावों की पोल खुल गई है. वंशवाद और भ्रष्टाचार की काली कमाई से इन लोगों में जो अहंकार हुआ है, उसे बिहार के लोगों ने ठीक करने की ठान ली है. इसलिए ये हारे हुए लोग, अब इससे बाहर निकलने का रास्ता तलाश रहे हैं.
  • अब 4 चरण के मतदान के बाद इनकी बंदूक की दिशा थोड़ी बदली है. अब आधी गाली मोदी को और आधी EVM को मिल रही है.
  • अपनी हार के लिए जमीन तैयार करने का उनका ये तरीका है. आज स्थिति ये हो गई है कि एक जमाने में जिस पार्टी का पूरे देश में एकछत्र शासन था, पंचायत से लेकर पार्लियामेंट पूरे हिंदुस्तान में एक ही दल था उस पार्टी के अहंकार को जनता ने चूर-चूर कर दिया है.
  • कांग्रेस हो, RJD हो, इनके पास सिर्फ नाम और दाम का ही विजन है. यही कारण है कि झूठ और प्रपंच की राजनीति इनके लिए वजूद बचाने का एकमात्र जरिया बन गई है.
  • इनका इरादा बिहार की और देश की सेवा करने का नहीं है. ये खुद को सेवक नहीं बल्कि लोकतंत्र का नया महाराजा समझते हैं.
  • इतिहास में ये पहला चुनाव है जब कांग्रेस कम सीटों पर चुनाव लड़ रही है. कांग्रेस और उसके साथियों की ये स्थिति क्यों हुई है इसका सीधा जवाब है विश्वसनीयता का संकट, वंश और विरासत से आपको एक कंपनी की कमान तो मिल सकती है लेकिन चलाने के लिए विजन कहां से लाओगे.
  • समाज में भेद पैदा करने के लिए ये बरसों से आरक्षण के नाम पर झूठ फैला रहे हैं. अटल जी की सरकार ने थारू समाज को उनका हक दिया था और वर्तमान एनडीए सरकार ने गरीब परिवारों को. हमने सामान्य वर्ग के गरीबों को 10% आरक्षण दिया, वो भी किसी दूसरे का हक छीने बगैर.
  • विचार और विजन से दिवालिया हो चुके ये महामिलावटी लोग गरीब, आदिवासी और किसान के साथ धोखे का जो खेल खेलते हैं उससे सावधान होने की जरूरत है. ये ऐसे शातिर हैं कि फर्जी स्कीम भी वोट के लिए बेच देते हैं.
  • सत्ता इन लोगों के लिए अपने और अपने परिवार के लिए मेवा जुटाने का जरिया है. मेवा नहीं मिलना था इसलिए इन लोगों ने ओबीसी कमीशन को संवैधानिक दर्जा मिलने में भी लगातार अड़ंगा लगया था.
  • ‘मत भूलिए जब 10 साल पहले कांग्रेस ने कर्ज माफ़ी का ऐलान किया था. उस समय किसानों का कर्ज था 6 लाख करोड़ रुपये और इन्होने माफ़ किया मात्र 52 हजार करोड़ रुपये. उसमें भी बाद में जो CAG रिपोर्ट आई, उससे पता चला की 40 लाख लोग ऐसे थे जो किसान थे ही नहीं और उन्हें पैसा बांट दिया गया.’
  • साल 2022 तक किसान की आय दोगुनी करने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं. किसानों को लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य का वादा भी हम लोगों ने पूरा किया है.
  • नितीश जी ने बड़ी मेहनत करके लालटेन को हटाया है. घर-घर में बिजली पहुंचाई है.वो आपको फिर से लालटेन युग की ओर ले जाना चाहते हैं, लेकिन नितीश जी और उनकी टीम आपके घर में LED बल्ब की दूधिया रौशनी पहुंचाने के लिए लगातार मेहनत कर रही है.
  • ‘हम पर जो बुरी नजर डालेगा उस पर उतनी ही शक्ति से वार किया जाएगा. आतंकी हो या फिर आतंक के मददगार, घर में घुस कर मारा जाएगा. वो अगर गोली चलाएंगे तो मोदी गोला चलाएगा.’

ये भी पढ़ें, जिस बुर्के पर हिंदुस्तान में आज जारी है बहस, उसे निपटा चुके हैं दुनिया के ज़्यादातर देश

Related Posts