दीदी का रवैया बहुत दिन से देख रहा हूं, मऊ की रैली में PM मोदी का ममता पर हमला

पीएम मोदी ने चुनावी सभा में कहा कि 'विपक्ष कोशिश कर रहा है कि जैसे-तैसे खिचड़ी सरकार बन जाए.'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (16 मई) को उत्‍तर प्रदेश के मऊ में चुनावी जनसभा को संबोधित किया. सपा-बसपा गठबंधन पर निशाना साधते हुए उन्‍होंने कहा कि “उत्तर प्रदेश में सपा बसपा ने जाति के आधार पर एक अवसरवादी गठबंधन किया. लखनऊ में AC कमरे में बैठकर तो डील हो गयी, लेकिन जमीन से कटे हुए ये नेता अपने कार्यकर्ताओं को भूल गए जिसका ये नतीजा निकला कि सपा और बसपा के कार्यकर्ता आज भी एक दूसरे पर हमले कर रहे हैं.”

पीएम ने आगे कहा, “इन लोगों ने कुछ जातियों को अपना गुलाम समझ लिया था, 2014 में पहली बार समझने और 2017 में दूसरी बार समझाने के बाद उत्तर प्रदेश के लोग 2019 में अच्छे से समझाने जा रहे हैं कि जातियां किसी की गुलाम नहीं हैं. अब बुआ हो या बबुआ हो, इन लोगों ने खुद को गरीबों से इतना दूर कर लिया है, इन्होने अपने आसपास पैसे की, वैभव की और अपने दरबारियों की इतनी बड़ी दीवार खड़ी कर ली है कि अब इन्हें गरीबों का दुःख नजर नहीं आता.

पीएम मोदी ने आगे कहा, “महामिलावटी लोग जो मोदी हटाओ कह रहे थे आज वो बौखलाए हुए हैं. उनकी पराजय पर देश ने मुहर लगा दी है. उत्तर प्रदेश ने तो इनका सारा गुणा गणित ही बिगाड़ दिया है. विपक्ष कोशिश कर रहा है कि जैसे-तैसे खिचड़ी सरकार बन जाए ताकि ये लोग अपने कामों को लेकर ब्लैकमेल कर सके पर ये नया भारत है जो घर में घुस कर मारता है. देश इन महामिलावटी लोगों की सच्चाई पहले दिन से जानता है कि मोदी को हटाना तो मात्र एक बहाना था साल में इन्हें अपने भ्रष्टाचार के पाप को छिपाना था.”

मऊ में पीएम ने कहा, “मैं उन किसान परिवारों के बैंक खाते में सीधी मदद देने में जुटा हूं, जिन्हें छोटे-छोटे खर्च के लिए भी कर्ज लेना पड़ता था. सरकार चाहती है कि मुस्लिम महिलाओं को उनकी भावनाओं के मुताबिक, उनकी आस्था के दायरे में ही तीन तलाक के खिलाफ आवाज उठाने का अधिकार मिले, लेकिन ये महामिलावटी दल, ऐसा भी होने नहीं दे रहे.”

घोसी से गठबंधन उम्‍मीदवार के बहाने मायावती पर वार

घोसी लोकसभा सीट से गठबंधन उम्‍मीदवार पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, “सपा-बसपा ने यहां से ऐसे उम्मीदवार को टिकट दिया है जो बलात्कार के आरोप में भगोड़ा है. समाजवादी पार्टी का तो इतिहास यूपी के लोग जानते हैं, लेकिन बहन जी, क्या आप ऐसे उम्मीदवारों के लिए वोट मांगेगी. सपा के समय यूपी में बेटियों की क्या स्थिति थी, ये सब जानते हैं. लेकिन बहन जी, महिला सुरक्षा को लेकर आपका बर्ताव भी अब सवालों के घेरे में है.”

उत्तर प्रदेश की घोसी लोकसभा सीट से बसपा-सपा प्रत्याशी अतुल राय पिछले कुछ दिनों से गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार हैं. अतुल राय पर एक छात्रा के साथ रेप करने का आरोप है. पुलिस उन्हें पकड़ने के लिए पूरे क्षेत्र में छापेमारी कर रही है लेकिन अभी तक उनका कोई पता नहीं चला है. पढ़ें आखिर कौन है वो उम्‍मीदवार जो चल रहा है फरार

राजस्‍थान में बसपा के कांग्रेस सरकार को समर्थन पर वार करते हुए पीएम ने कहा, “कुछ दिन पहले राजस्थान के अलवर में एक दलित बेटी के साथ गैंगरेप किया गया था. वहां बहन जी के समर्थन से कांग्रेस की सरकार चल रही है. कांग्रेस की सरकार ने चुनाव को देखते हुए उस दलित बेटी के साथ हुए इस राक्षसी अपराध को छिपाने की कोशिश की. बहन जी सब जानती हैं, लेकिन कांग्रेस सरकार से समर्थन वापस लेने के बजाय वो मोदी को गालियां देने में जुटी हैं. महिला हितों, महिला सुरक्षा के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध है. आजादी के इतिहास में पहली बार, रेप केस में फांसी की सज़ा का प्रावधान इस चौकीदार ने किया है.”

प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी को भी आड़े हाथों लिया. उन्‍होंने कहा, “मैं तो सोच रहा था कि जिस तरह ममता दीदी वहां पर यूपी-बिहार-पूर्वांचल के लोगों पर निशाना साध रही हैं, उन्हें बाहरी बताकर अपनी राजनीति कर रही हैं, बहन मायावती इस पर ममता दीदी को जरूर खरी-खोटी सुनाएंगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. बहन जी ने पश्चिम बंगाल को लेकर मुझ पर निशाना साधा है. चुनाव आयोग को भी आड़े हाथों लिया है. मोदी सरकार ईश्वर चंद विद्यासागर की पंचधातु की मूर्ति को उसी जगह पर स्थापित करेगी.”

पीएम ने बंगाल के हालत का जिक्र करते हुए कहा, “मुझे याद है कुछ महीना पहले जब पश्चिमी मेदिनिपुर में मेरी रैली थी, तो किस तरह की अराजकता वहां टीएमसी द्वारा फैलाई गई थी. इसके बाद ठाकुरनगर में तो ये हालत कर दी गई थी कि मुझे अपना संबोधन बीच में छोड़कर मंच से हट जाना पड़ा था. कुछ दिन पहले कूच बिहार में मेरी रैली के लिए जहां मंच बनना था, वहीं पर दीदी ने अपनी पार्टी का बड़ा सा मंच बनवा दिया था. दीदी का ये रवैया तो मैं बहुत दिन से देख रहा हूं. अब पूरा देश भी देख रहा है. टीएमसी के गुंडों की ये दादागीरी परसों रात भी देखने को मिली है. परसों, कोलकाता में भाई अमित शाह के रोड शो के दौरान टीएमसी के गुंडों ने ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति को तोड़ दिया. ऐसा करने वालों को कठोर से कठोर सज़ा दी जानी चाहिए.”

ये भी पढ़ें

चुनाव आयोग का फैसला मोदी के लिए गिफ्ट, बंगाल प्रचार बैन पर बोले रणदीप सुरजेवाला

‘शीशे के घरों में रहने वाले दूसरों पर पत्‍थर नहीं फेंकते’, भाई के बहाने रॉबर्ट वाड्रा का PM मोदी पर तंज