‘बालाकोट, पुलवामा को समर्पित हो वोट’, PM मोदी की अपील को EC से मिली क्‍लीन चिट

पीएम मोदी ने महाराष्‍ट्र के लातूर में बालाकोट एयर स्‍ट्राइक और पुलवामा हमले का जिक्र कर वोट करने की अपील की थी.

नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पिछले कुछ दिनों में चुनाव आयोग से दूसरी क्‍लीन चिट मिली है. 9 अप्रैल को महाराष्‍ट्र के लातूर में मोदी के भाषण को आदर्श आचार संहिता का उल्‍लंघन नहीं पाया गया है. लातूर में मोदी ने पहली बार वोट करने जा रहे युवाओं से अपना वोट उन ‘बहादुर सैनिकों’ जिन्‍होंने बालाकोट एयर स्‍ट्राइक की और पुलवामा हमले के ‘बहादुर शहीदों’ को ‘समर्पित’ करने की अपील की थी. इसके बाद, चुनाव आयोग ने राज्‍य मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी (CEO) से रिपोर्ट मांगी थी.

मोदी ने कहा था , “मैं पहली बार वोट देने वाले युवाओं से कहना चाहता हूं कि क्या आपका वोट पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने वाले वीरों को समर्पित हो सकता है? आपका पहला वोट पुलवामा में शहीद हुए जवानों को समर्पित हो सकता है क्या?

बालाकोट-पुलवामा पर मोदी के बयान की शिकायत विपक्षी दलों ने भी चुनाव आयोग से की थी. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने ‘आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के लिए’ मोदी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि उन्हें देश की सशस्त्र सेना पर गर्व है, लेकिन वह कभी भी मोदी की तरह सेना के नाम पर वोट नहीं मांगेंगी.

वर्धा के भाषण पर भी मिली थी क्‍लीन चिट

चुनाव आयोग ने एक दिन पहले ही मोदी को वर्धा रैली में भाषण के लिए क्‍लीन चिट दी थी. मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर अमेठी के अलावा वायनाड से चुनाव लड़ने के फैसले को लेकर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस के नेता अब बहुसंख्यकों की आबादी वाले निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ने में डर रहे हैं. इस भाषण में उन्होंने कांग्रेस पर ‘हिंदू आतंकवाद’ शब्द का उपयोग करने का आरोप लगाया था.

ये भी पढ़ें

सुन लो पाकिस्तान, भारत भी अब 1971 वाला नहीं, अगर उलझे तो फिर होंगे दोफाड़ !

और झुक गया चीन! पाकिस्‍तान की चाल पर यूं भारी पड़ गया मोदी का पैंतरा