लेह प्रेस क्लब ने लगाया बीजेपी पर रिपोर्टर्स को पैसे बांटने का आरोप

लेह प्रेस क्लब (Press Club Leh ) का पत्र सामने आने के बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना ने धमकी दी है कि यदि प्रेस क्लब सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगता तो मानहानि का मुकदमा दायर किया जाएगा.

लेह: लोकसभा चुनाव के रण में एक से एक नए विवाद सामने आ रहे हैं. इस बीच जम्मू-कश्मीर से एक बड़ा मामला सामने आया है, जहां पर लेह प्रेस क्लब (Leh Press Club) ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर पत्रकारों को पैसा बांटने की कोशिश करने का आरोप लगाया है.

लेह प्रेस क्लब के मुताबिक, बीजेपी ने क्लब के सदस्यों को पैसों से भरे लिफाफों की पेशकश कर रिश्वत देने की कोशिश की. लेह प्रेस क्लब के इस आरोप के बाद देश में घमासान मच गया है.

Press Club leh BJP Leaders Bribe, लेह प्रेस क्लब ने लगाया बीजेपी पर रिपोर्टर्स को पैसे बांटने का आरोप

Press Club leh BJP Leaders Bribe, लेह प्रेस क्लब ने लगाया बीजेपी पर रिपोर्टर्स को पैसे बांटने का आरोप

वहीं बीजेपी ने इस आरोप से इनकार करते हुए कहा है कि आरोप ‘राजनीति से प्रेरित’ है. इस आरोप के बाद विपक्षी पार्टियों ने भी बीजेपी को घेर लिया है. इतना ही नहीं विपक्ष ने बीजेपी को घेरते हुए चुनाव आयोग और जम्मू-कश्मीर पुलिस से इस मामले में कार्रवाई करने की मांग की है.

लेह प्रेस क्लब (Press Club Leh ) का पत्र सामने आने के बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना ने धमकी दी है कि यदि प्रेस क्लब सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगता तो मानहानि का मुकदमा दायर किया जाएगा.

रवींद्र रैना ने कहा, “बीजेपी इस तरह के आरोपों को बर्दाश्त नहीं करेगी. अगर प्रेस क्लब सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगता तो हम उच्च न्यायालय में मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे”.

इसके आगे रैना ने कहा कि आरोप ‘निराधार और दुष्प्रचार’ हैं, यह ‘राजनीति से प्रेरित एक कदम’ है. दूसरी तरफ, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने लेह प्रेस क्लब का पत्र शेयर करते हुए इस पूरे मामले में कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग और जम्मू-कश्मीर पुलिस को लेह प्रेस क्लब के पत्र का संज्ञान लेना चाहिए.