PM बोले- बोटी-बोटी करने वाले साहब भी हैं और कांग्रेस के शहजादे के बड़े चहेते हैं

'मैं अपनी मुस्लिम बेटियों को स्पष्ट कहना चाहता हूं कि कांग्रेस, सपा और बसपा के राज में मुस्लिम महिलाओं का शोषण जारी रहेगा. वे ट्रिपल तलाक के खिलाफ कानून को कभी अनुमति नहीं देंगे.'

सहारनपुर: 2019 लोकसभा चुनाव के लिए सभी दलों ने प्रचार प्रसार शुरू कर दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में रैली को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधा. पीएम मोदी ने सहारनपुर से कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद का नाम लिए बगैर उनके बोटी-बोटी वाले बयान की याद दिलाते हुए हमला बोला.

पीएम मोदी ने कहा कि बोटी-बोटी की धमकी देने वाले लोग हैं और हम बेटी-बेटी को सुरक्षा और सम्मान देने वाले लोग हैं. आपके इस चौकीदार के लिए किसान हो, जवान हो या फिर नौजवान, सबको सुरक्षा, सबकी समृद्धि और सबको सम्मान, यही ध्येय हमारा रहा है और रहेगा.

पीएम मोदी की सहारनपुर रैली में कहीं गई खास बातें

1- मोदी से पार पाने के लिए कुछ लोग राष्ट्र को दांव पर लगा रहे हैं. ये देश को धर्म-जाति, सम्प्रदाय और स्वार्थ के समीकरण में उलझाने लगे हैं. आपको इनकी साजिशों को नाकाम करना है.

2- सहारनपुर के बाजारों में वो आगजनी और व्यापारियों के साथ वो बदसलूकी यूपी भुला सकता है क्या? कैराना में पलायन की वो घटनायें आप भूल सकते हैं क्या?.

3- देश में होने वाला बम धमाका, जाति देखकर जान नहीं लेता. सरहद पर अपनी जान की बाजी लगाने वाला जवान सिर्फ हिंदुस्तानी होता है.

4- चौधरी अजीत सिंह ने तो इस स्वार्थ में सारी हदें ही पार कर दी हैं. तब अपने राजनैतिक स्वार्थ के लिए वो चुप रहे और आज भी अपने स्वार्थ के लिए वो इस क्षेत्र में आप पर हुए अत्याचारों को भूल गए हैं.

5- उनकी ज़ुबान दंगों के संरक्षकों के विरुद्ध नहीं उठती, हां इस चौकीदार को गाली देने के लिए वो गली-गली घूम रहे हैं. छोटे चौधरी तो उनसे भी आगे बढ़ गए हैं.

6- चौधरी साहब को ये याद दिलाना आपका दायित्व है, कि उनका भी ठेका किसी ने आपको नहीं दिया है. हमेशा राष्ट्रहित के लिए, किसान हित के लिए समर्पित रहे चौधरी चरण सिंह जी को आज इन बयानों से कितना दुःख हो रहा होगा, आप समझ सकते हैं.

7- महामिलावटी लोगों के आचरण से पता लगता है कि सत्ता में आने के बाद वो कैसे काम करेंगे. पिछड़ों के हितों की रक्षा कभी नहीं की जाएगी. याद रखिए कांग्रेस हमेशा पिछड़ों की विरोधी रही है.

8- यहां तो बोटी-बोटी करने वाले साहब भी हैं और कांग्रेस के शहजादे के बड़े चहेते हैं. याद रखिएगा, वो बोटी-बोटी की धमकी देने वाले लोग हैं और हम बेटी-बेटी को सम्मान देने वाले हैं.

9- मैं अपनी मुस्लिम बेटियों को स्पष्ट कहना चाहता हूं कि कांग्रेस, सपा और बसपा के राज में मुस्लिम महिलाओं का शोषण जारी रहेगा. वे ट्रिपल तलाक के खिलाफ कानून को कभी अनुमति नहीं देंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि हम जो अध्यादेश लाए, उसे कभी पारित न किया जाए.

10- मुस्लिम बहनों को मेहरम के बिना हज यात्रा का विश्वास मिला ये भी बेटी का सम्मान है. तीन तलाक के कुचक्र से बेटियों को मुक्ति देने का संकल्प भी बेटियों को जीवन सुरक्षित करने का प्रयास है.

11- कांग्रेस ने अपने ढकोसलापत्र में जो लिखा है, उसका मतलब ये निकलता है कि बेटियों के साथ राक्षसी अपराध करने वालों को भी अब जेल नहीं बल्कि जमानत दे दी जाएगी.

12- जिन्होंने बाबा साहब का अपमान किया, उसी कांग्रेस के एक नेता आपके इस चौकीदार को शौचालय का चौकीदार कहते हैं. मेरे लिए तो ये सम्मान की बात है, लेकिन कांग्रेस की सोच साफ-सफाई के काम से जुड़े करोड़ों चौकीदारों का अपमान है.

13- सपा बसपा का काम मिलें- कारखाने बंद करने का था, हमारा खुलवाने का है. इन्होंने गन्ना मिलों के साथ भी यही किया और सहारनपुर के लकड़ी उद्योग को भी नहीं बख्शा.

14- गन्ने से इथेनॉल बनाने के लिए देश भर में प्लांट लगाए जा रहे हैं. एक बार जब ये सारे प्लांट शुरू हो जायेंगे तो गन्ना किसानों को ज्यादा पैदावार होने से कभी कोई दिक्कत नहीं आएगी.