कांग्रेस के हत्यारे इसी कमरे में मौजूद, चुनाव में सपने टूटने पर CWC की मीटिंग में बोलीं प्रियंका

सीडब्यूसी की बैठक में महासचिव प्रियंका गांधी ने पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं की कार्यप्रणाली पर कड़ा ऐतराज जताया था और कहा था कि...

नई दिल्ली: 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन बेहद ही निराशाजनक रहा. इसे लेकर 25 मई को नई दिल्ली में कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक हुई थी. बैठक में महासचिव प्रियंका गांधी ने पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं की कार्यप्रणाली पर कड़ा ऐतराज जताया था. प्रियंका ने बेहद तल्ख लहजे में कहा था कि कांग्रेस के हत्यारे इसी कमरे में बैठे हैं.

…और फूट पड़ा प्रियंका का गुस्सा
न्यूज एजेंसी यूएनआई ने सूत्रों के हवाले बताया है कि प्रियंका का गुस्सा उस वक्त फूट पड़ा था जब पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने वहां मौजूद कुछ वरिष्ठ नेताओं के नाम लिए और कहा कि उन्होंने अपने बेटों को टिकट देने के लिए दबाव बनाया था. लेकिन चुनाव के समय जो संकट सामने था पार्टी को उससे बाहर निकालने के लिए कोई ठोस प्रयास नहीं किया.

राहुल के इस्तीफे प्रियंका की सलाह
रिपोर्ट के मुताबिक, प्रियंका ने ही राहुल को उनके इस्तीफे को लेकर एक महीने तक विचार करने की सलाह दी थी. सूत्रों ने बताया कि प्रियंका ही नहीं पूरा गांधी परिवार इन नेताओं की काम करने की शैली से नाराज है. करीब चार घंटे चली बैठक में सोनिया गांधी ने एक शब्द भी नहीं बोला था.

राहुल ने भी सुनाई खरी-खरी
दूसरी तरफ, राहुल गांधी ने सीडब्ल्यूसी में कांग्रेस की हार के पीछे का कारण पार्टी के दिग्गज नेताओं को बताया था. राहुल ने आरोप लगाया कि पार्टी के बड़े नेताओं ने उनपर अपने बेटों को लोकसभा टिकट दिलाने का दबाव बनाया था. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राहुल ने ये बात कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की उस बात के बाद कही, जिसमें सिंधिया ने कहा था कि पार्टी को स्थानीय नेताओं को तैयार करने की जरूरत है.

राहुल पर टिकट देने का था दबाव 
सूत्रों के मुताबिक, राहुल ने कहा था कि पार्टी ने उन प्रदेशों में भी बहुत ही खराब प्रदर्शन किया, जहां पर उनकी पार्टी सत्ता में है. उन्होंने कहा था कि पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत, कमलनाथ और पी. चिदम्बरम ने उनसे अपने बेटों को टिकट दिलाने के लिए जोर दिया था, जबकि राहुल उनकी इस सिफारिश को स्वीकार करने के पक्ष में नहीं थे.

ये भी पढ़ें-

जितना वोट पड़ा, कहीं ज्यादा गिना गया, कहीं कम, आखिर ये कैसे हुआ? संजय सिंह का सवाल

जम्मू में सैन्य शिविर का वीडियो बना रहे थे दो संदिग्ध जासूस, गिरफ्तार

डॉ पायल तडवी सुसाइड केस की तीनों आरोपी महिला डॉक्‍टर अरेस्‍ट, आज होगी पेशी