मोदी जी की निजी संपत्ति नहीं है सेना, BJP हार रही चुनाव- बोले राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा कि 'प्रधानमंत्री के पास कोई विशेषज्ञता नहीं है. जो लोग हैं, उनका वो उपयोग नहीं करते. इसलिए वो राफेल मामले में मुझसे डिबेट नहीं करना चाह रहे.'

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को पार्टी मुख्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की. राहुल ने इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर जमकर निशाना साधा. साथ ही उन्होंने मीडिया के कई सवालों का जवाब भी दिया.

‘आर्मी हिंदुस्तान की सेना है’
राहुल ने चुनावी प्रचार में सेना का इस्तेमाल किए जाने को लेकर पीएम मोदी की कड़ी आलोचना की. उन्होंने कहा, आर्मी हिंदुस्तान की सेना है, किसी एक व्यक्ति की नहीं. हम उसका राजनीतिकरण नहीं करते. प्रधानमंत्री में इतना सम्मान होना चाहिए कि वो सेना के लोगों का अपमान न करे.’

उन्होंने कहा कि सेना मोदी जी की निजी संपत्ति नहीं है, सेना भारत की है. अगर मोदी जी कहते हैं कि सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक वीडियो गेम है, तो ये देश की सेना का अपमान है.

‘राफेल पर मुझसे डिबेट नहीं करना चाहते पीएम मोदी’ 
कांग्रेस अध्यक्ष ने एक बार फिर से राफेल सौदे में हुई कथित गड़बडड़ी का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि ‘प्रधानमंत्री के पास कोई विशेषज्ञता नहीं है. जो लोग हैं, उनका वो उपयोग नहीं करते. इसलिए वो राफेल मामले में मुझसे डिबेट नहीं करना चाह रहे.’

राहुल गांधी ने दावा किया कि भाजपा इस बार चुनाव हार रही है. उन्होंने कहा, “चुनाव आधे से ज्यादा खत्म हो चुका है. स्पष्ट है कि मोदी जी चुनाव हार रहे हैं. किसान, भ्रष्टाचार, रोजगार, संस्थाओं पर अतिक्रमण मुख्य मुद्दे हैं. इसलिए भाजपा चुनाव हार रही है.”

‘मसूद को PAK किस सरकार ने भेजा’
राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में आतंकवाद का भी मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा, “मसूद अजहर आतंकी है और उस पर जर सम्भव कार्रवाई होनी चाहिए. लेकिन, उसे पाकिस्तान किस सरकार ने भेजा था- भाजपा ने. भाजपा आतंकवाद से समझौता करती है. कांग्रेस नहीं करती, न हम कभी करेंगे.”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “कांग्रेस घोषणा पत्र में देश की आवाज है और उधर सिर्फ एक व्यक्ति की आवाज है. वो जीत नहीं सकता, क्योंकि इस देश के सामने कोई खड़ा ही नहीं हो सकता.”

उन्होंने कहा, “मोदी जी ने कहा था कि वे प्रतिवर्ष लगभग दो करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार देंगे. वहीं कांग्रेस के घोषणापत्र में पूरा चैप्टर ही रोजगार पर है. इसमें हमने बताया है कि हम इसे कैसे करेंगे और क्या करेंगे.”


‘PM मोदी में मीडिया के सामने खड़े होने की हिम्मत नहीं’
राहुल ने पीएम मोदी के पूरे पांच साल के कार्यकाल में एक भी प्रेस कॉन्फ्रेंस न करने पर तंज कसा. उन्होंने कहा, “मोदी जी में भारतीय मीडिया के सामने खड़े होने की हिम्मत ही नहीं है. आप प्रधानमंत्री से भी कहें कि हो सके तो ऐसी कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लें. भारतीय प्रधानमंत्री में अंतरराष्ट्रीय मीडिया तो क्या भारतीय मीडिया के सामने खड़े होने की हिम्मत नहीं है.”

उन्होंने कहा कि मुझे एक डरा हुआ प्रधानमंत्री दिख रहा है जो जानता है कि वो हार जाएगा. लोग पूछ रहे हैं कि पैंतालीस सालों में बेरोज़गारी सबसे ऊपर क्यों हैं और उनके पास कोई जबाव नहीं है. जब उनसे ये पूछा जाता है तो वो भूतकाल में जाकर बहाने तलाशते हैं.

राहुल ने कहा, “मोदी जी का पूरा तंत्र अव्यवस्थित है. हमने चार से पांच चुनावों में उन्हें टक्कर दी है. हम उनके खिलाफ गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में लड़े हैं. उन्हें बहुत जल्द पता चल जाएगा कि वे नहीं जीतेंगे तब वे कुछ नया लाएंगे.”

Read Also: ‘सही वक्‍त पर सब साथ आ जाएंगे’, चुनाव बाद गठबंधन पर सैम पित्रोदा का बड़ा बयान