राहुल गांधी ने किया पेट्रोल, डीजल को GST में लाने का वादा

हाल ही में एक रैली के दौरान राहुल गांधी ने दावा किया था कि इस बार के चुनावों में नरेंद्र मोदी की सत्ता में वापसी नहीं होगी.

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस अगर सत्ता में आती है तो मंहगाई कम करने के लिए प्रमुख पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स को जीएसटी के दायरे में लाया जाएगा.

राहुल गांधी ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा, “हम जानते हैं कि आम आदमी कीमतें बढ़ने से परेशान है. उन्हें राहत देने के लिए, कांग्रेस पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाएगी जिससे बढ़ती मंहगाई को रोकने में मदद मिलेगी.”

उन्होंने कहा, “महंगाई के बोझ को कम करने लिए पेट्रोल, डीजल और गैस सिलेंडर को जीएसटी में लाया जाना चाहिए. जीएसटी के लिए एक दर तय होनी चाहिए, इसे कम से कम रखा जाए और इसकी कीमत 18 फीसदी से ज्यादा नहीं होना चाहिए.”

इससे पहले भी राहुल गांधी ने एक जनसभा के दौरान बेरोजगारों को 22 लाख नौकरियां देने की बात कही थी. इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि हमारी सरकार झूठे वादे नहीं करेगी. जितनी नौकरियां हैं, उतना ही कहा जाएगा. 15 लाख आने जैसे झूठे वादे नहीं किए जाएंगे.

हाल ही में भिंड में हुई रैली में भी राहुल गांधी ने नोटबंदी और जीएसटी से हो रही दिक्कतों पर बात करते हुए कहा था, “नोटबंदी और गब्बर सिंह टैक्स लागू होने की वजह से व्यापार ठप्प हुआ. प्रधानमंत्री ने माताओं-बहनों से लेकर हर किसी की जेब से पैसे निकाल लिए. इसी के चलते देश की अर्थव्यवस्था हिल गई.”