‘सही वक्‍त पर सब साथ आ जाएंगे’, चुनाव बाद गठबंधन पर सैम पित्रोदा का बड़ा बयान

कांग्रेस के रणनीतिकार ने कहा है कि उन्‍हें गठबंधन के सदस्‍यों के नेतृत्‍व पर भरोसा है.


कांग्रेस के रणनीतिकार सैम पित्रोदा ने कहा है कि नरेंद्र मोदी को सत्‍ता से बेदखल करने के लिए गठबंधन सही वक्‍त पर साथ आएगा. पित्रोदा ने कहा कि विरोधी दलों का मकसद एक है कि मोदी सरकार को हटाना है, चाहे इसलिए कि सीटों की संख्‍या पर समझौता क्‍यों न करना पड़े.

ANI से बातचीत में कांग्रेस नेता ने कहा कि “मुझे नहीं लगता कि चिंता की कोई बात है. वे (गठबंधन के दल) सारे सही समय पर एक साथ आ जाएंगे. मैं आपको विश्‍वास दिलाता हूं, वे सभी अपने साझा उद्देश्‍य को लेकर स्‍पष्‍ट हैं. वे सभी लोकतंत्र, समावेश और शांति चाहते हैं. शांति के द्वारा ही समृद्धि होगी. देश में शांति होगी तभी हम नौकरियां पैदा कर पाएंगे.”

पढ़ें, मोदी बनाम गांधी’ नहीं ‘नरेंद्र बनाम राहुल’ है ये चुनाव, सैम पित्रोदा ने राष्ट्रीय सम्मेलन में कही ये 20 बड़ी बातें

सैम पित्रोदा ने आगे कहा, “हम लोगों को बांटकर नौकरियां पैदा नहीं कर सकते, ये सब जानते हैं. मुझे गठबंधन के सदस्‍यों के नेतृत्‍व पर भरोसा है. आज भले ही वो किसी पक्ष में हो, जब सही समय आएगा, मुझे विश्‍वास है कि वे सही फैसला करेंगे.”

पढ़ें, बालाकोट स्ट्राइक पर सवाल पूछने वाले राहुल के सलाहकार सैम पित्रोदा घिरे तो क्या सफाई पेश की?

कांग्रेस की बात से क्‍यों नाराज हुए अखिलेश-मायावती
राहुल गांधी ने हाल ही में कहा था कि कांग्रेस इन चुनावों में गठबंधन की मदद करेगी क्‍योंकि बीजेपी को हराना है. जिसके बाद अखिलेश ने कहा था कि “मैं ऐसे बयानों पर यकीन नहीं कर सकता. मुझे विश्‍वास नहीं होता कि कांग्रेस ने कहीं भी कमजोर उम्‍मीदवार खड़ा किया हो. कोई पार्टी ऐसा नहीं करती. लोग उनके साथ नहीं हैं. इसीलिए वह बहाने बना रहे हैं.”

मायावती ने कहा है कि कांग्रेस के पक्ष में वोट करना ‘बर्बाद’ करने जैसा होगा.